वीडियो : मध्‍य प्रदेश के नीमच जिले में दलित दूल्‍हे को घोड़ी पर चढ़ने से रोका, पुलिस के साए में निकली बरात

मनासा के ग्राम सारसी में पुलिस बल के साए में राहुल मेघवाल की बिंदौली निकली।ल्हे राहुल गेघवाल ने एक हाथ में संविधान ले रखा था।

Updated: | Thu, 27 Jan 2022 08:16 PM (IST)

नीमच, मनासा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मनासा नगर के समीप गांव सारसी में मीणा समाज व मेघवाल समाज के लोग मंदिर के सामने बिंदौली निकालने को लेकर आमने - सामने हो गए। इस दौरान दलि‍त दूल्‍हे को घोड़ी पर चढ़न से रोका गया। बाद में पुलिस के साए में बरात निकाली गई। गुरुवार को गांव सारसी में मेघवाल समाज के राहुल पुत्र फकीरचंद मेघवाल की शादी हो रही थी। वही राहुल की बिंदौरी को लेकर मीणा समाज व मेघवाल समाज मे विवाद की स्थिति बन गई। मीणा समाज के लोगों का कहना था कि आप बिंदौली निकालो पर मंदिर के सामने दूल्हे को घोडी से उतरकर बिंदौली निकालनी होगी, क्योंकि मीणा समाज भी अपने चारभुजानाथ मंदिर के सामने वर्षों से दूल्हे को घोड़ी से उतारकर ही ही बिंदौली निकालता है।इस परम्परा का ध्यान रखना होगा।

मेघवाल समाज के लो इसको ऊंच-नीच व छुआछूत की बात मानकर मंदिर के सामने बिंदौली से निकालने को लेकर अड़ गए। विवाद की सूचना पर मौके पर प्रशासनी अधिकारियों सहित बड़ी संख्या पुलिस बल पहुंच गया। एसडीएम पवन बारिया, एतहसीलदार एमएल वर्मा, थाना प्रभारी केएल डांगी, कुकडेश्वर थाना प्रभारी संदीप तोमर, रामपुरा थाना प्रभारी गजेंद्र चौहान, निरीक्षक फतेह सिंह आंजना, एमएच आजाद सहित बड़ी संख्या पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। दोपहर करीब 2:20 बजे दूल्हे राहुल मेघवाल की बिंदौली पुलिस बल की उपस्थिति में शुरु हुई। दूल्हा घोड़ी पर सवार होकर हाथ में संविधान की पुस्तक लिए बैठा था।

भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील रस्तोगी दोपहर 3:30बजे उज्जैन से अपने साथियों के साथ गांव सारसी पहुंचे थे, जहां समाजजनों ने उनका साफा व पुष्‍पहार से स्वागत किया। डीजे की धुन व गानों पर सभी खूब नाचे । भीम आर्मी जिंदाबाद के नारे लगे।

बिंदौली गांव के मीणा समाज के चारभुजानाथ मंदिर के सामने से पुलिस बल की उपस्थिति में निकली और मंदिर के सामने भी लोग खूब नाचे। शांति पूर्ण तरीके से बिंदौली निकलने पर पुलिस व प्रशासन ने राहत की सांस ली। भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश में बाबा साहब आंबेडकर के संविधान का सभी को पालन करना है। हमने ऊंच-नीच से परे रहकर ही शांतिपूर्ण तरीके से बिंदौली निकाली। प्रशासन का सहयोग रहा।

दूल्हे राहुल मेघवाल ने कहा कि शादी के कुछ दिन पहले ही गांव के मीणा समाज के कुछ लोगों ने मंदिर के सामने से बिंदौली नही निकालने की धमकी दी थी। जिस मेरे पिताजी ने कलेक्टर मयंक अग्रवाल को स्थित से अवगत कराया था। इसके बाद आज प्रशासन ने शांतिपूर्ण तरीके से मेरी बिंदौली गांव में निकली मैं प्रशासन के सभी अधिकारियों का आभारी हूं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay