पन्‍ना में भाजपा नेता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, स्‍वजन ने किया हंगामा

Updated: | Thu, 21 Oct 2021 03:09 PM (IST)

पन्ना, नईदुनिया प्रतिनिधि। धरमपुर थाना अंतर्गत नरदहा ग्राम में भाजपा युवा मोर्चा के मंडल मंत्री दुर्गेश सोनकर उम्र 35 वर्ष ने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जैसे ही इसकी जानकारी गांव सहित आस पास क्षेत्र में पहुंची लोगों ने मौके पर पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया और सड़क पर शव को रखकर चक्काजाम कर दिया। गुस्साएं ग्रामीणों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि युवक का बीते रोज नरदहा के कुछ लोगों से विवाद हो गया था, जिसकी शिकायत करने वह 18 अक्टूबर की रात को चौकी नरदहा गया, लेकिन पुलिस द्वारा उल्टा डाट फटकार लगाकर उसे भगा दिया गया।

इसके पश्चात वह रात्रि को ही थाना धरमपुर घटित घटना की रिपोर्ट करने पहुंचा था लेकिन धरमपुर पुलिस द्वारा भी यह कहकर रिपोर्ट नही लिखी गई कि अभी रात मे जाओं वही आकर मामले जांच करेगें। जन चर्चा है कि दुर्गेश सोनकर एवं गांव के ही कुछ लोगो के बीच 18 अक्टूबर की रात को जेसीबी को लेकर विवाद हुआ था, जिससे आहत होकर मृतक युवक दुर्गेश सोनकर घटना की रिपोर्ट करने रात्रि में ही नरदहा से लेकर धरमपुर पुलिस के यहां भटकता रहा लेकिन उसकी कोई सुनवाई नही हुई जिससे वह आहत होकर उनसे आत्महत्या जैसा कदम उठाया गया। मौके पर मौजूद परिजनों व ग्रामीणों ने मौके पर वरिष्ट अधिकारियों की आने की मांग पर अडे रहे, स्थिति को देखते हुए मौके पर पुलिस के वरिष्ट अधिकारी पहुंचे और परिजनों की मांग पर पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में 5 लोगों के खिलाफ धारा 306, 34 एससी एसटी एक्ट के तहत मामला कायम कर शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिये अजयगढ़ भेज दिया गया। तब कही जाकर मामला शांत हुआ और परिजन शव ले जाने के लिए तैयार हुए। बुधवार को बाइक की रोशनी में पोस्टमार्टम किया जा रहा था जिसमें रिश्तेदारों व गांव के लोगों ने विरोध जताया व प्रदर्शन किया जिसके बाद आज अजयगढ़ में पोस्टमार्टम किया गया।

अधिकारियों की समझाईस के बाद शांत हुआ मामला: भाजपा युवामोर्चा मण्डल मंत्री दुर्गेश सोनकर की आत्महत्या के बाद परिजन व ग्रामीणों ने सडक पर शव रखकर चक्का जाम कर दिया। जैसे ही इसकी जानकारी धरमपुर पुलिस को लगी तो वह मौके पर पहुंचकर चक्का जाम खुलवाने का प्रयास किया लेकिन परिजन नही माने और कार्यवाही की मांग को लेकर अडे रहे। जिसकी सूचना धरमपुर थाना प्रभारी सुधीर बेगी द्वारा वरिष्ट अधिकारियों को दी गई। जिस पर पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीना के निर्देश पर विक्रम सिंह एडिशनल एसपी छतरपुर, अरविंद कुजूर थाना प्रभारी अजयगढ़, देवेन्द्रनगर थाना प्रभारी अभिषेक पाण्डेय व सिद्धार्थ शर्मा को मौके पर पर भेजा गया। जिनकी समझाईस के बाद मामला शांत हुआ

Posted By: Ravindra Suhane