Delhi Mumbai Expressway: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लिया स्पीड टेस्ट, 170 KM प्रति घंटे की रफ्तार पर दौड़ी कार, देखें VIDEO

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 10:25 PM (IST)

Delhi Mumbai Expressway: रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस हाईवे और चंबल एक्सप्रेस–वे मध्य प्रदेश के ग्रोथ इंजन बनेंगे। इससे प्रदेश के विकास को नई रफ्तार मिलेगी। यह बात केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को रतलाम के जावरा में दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस के निर्माण कार्यों की प्रगति के अवलोकन के दौरान कही। उन्होंने कहा कि 1350 किमी लंबा यह एक्सप्रेस हाईवे दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेस हाईवे है। यह दूरी हम लगभग साढ़े 12 घंटे में पूरी कर सकते हैं। इस हाईवे में 320 मिलियन लीटर ईंधन की खपत कम होगी। गडकरी ने कहा कि फर्स्ट फेज में एक्सप्रेस–वे एट लेन का और दूसरे फेज में इसे 12 लेन का बनाएंगे। मध्य प्रदेश में 245 में से 106 किमी का काम पूरा हो गया है। नवंबर 2022 तक काम पूरा हो जाएगा। इसे मालवा से कनेक्टिविटी देने के लिए 173 किलोमीटर का फोरलेन भी बनाया जाएगा, जो इंदौर, देवास, उज्जैन, आगर और गरोठ तक जाएगा। मंत्री गडकरी ने 170 की स्पीड से एसयूवी चलाकर गुणवत्ता परखी। बाद में कार्यक्रम में यह जानकारी देते हुए कहा कि राजस्थान के सवाई माधोपुर में एक्सप्रेस–वे की तुलना में यहां सड़क अच्छी बनी है।

170 की स्पीड से चलाई एसयूवी, बोले सड़क अच्छी

रतलाम में निवेश क्षेत्र विकसित करेंगे

शहर विधायक चेतन्य काश्यप की मांग पर केंद्रीय मंत्री गडकरी ने रतलाम को बड़ी सौगात देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि दिल्ली, मुंबई का मुख्य सेंटर रतलाम है। एक्सप्रेस–वे पर प्रदेश सरकार से प्रस्ताव मिलने के बाद रतलाम के बिबड़ौद में 1800 हेक्टेयर में राजमार्ग प्राधिकरण के माध्यम से लाजिस्टिक हब, औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जाएगा।

अटल एक्सप्रेस–वे भारतमाला में शामिल

गडकरी ने कहा कि अटल एक्सप्रेस–वे मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के पिछड़े इलाकों से होकर गुजरेगा। करीब साढ़े 8 हजार करोड़ को इस एक्सप्रेस को भारत माला में शामिल कर लिया गया है। 403 किमी लंबे एक्सप्रेस वे का 313 किमी मार्ग मप्र में पड़ेगा। इस एक्सप्रेस में लाजिस्टिक पार्क, औद्योगिक केंद्र, कृषि उत्पादन केंद्र, खाद्य प्रसंस्करण केंद्र, शिक्षा केंद्र और मनोरंजन केंद्र भी प्रस्तावित है।

बायो एथानाल से चलेंगे वाहन

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अच्छी सड़कों की वजह से अमेरिका धनवान देश है। एक्सप्रेस वे से रोजगार मिलेगा। मक्के से एथानाल बनाने की अनुमति मिली है। अब वाहन बायो एथानाल से चलेंगे। जल्द एथानाल संचालित आटो लांच होगा। ग्रीन हाईड्रोजन की दिशा में हम तेजी से काम कर रहे हैं, इससे ही ट्रेन व अन्य वाहन चलेंगे। ग्रीन हाईड्रोजन को हम निर्यात भी करेंगे।

Posted By: Prashant Pandey