अब मध्य प्रदेश के सीहोर में सूदखोरों से परेशान व्यक्ति ने ट्रेन के सामने कूदकर दी जान

Updated: | Sat, 27 Nov 2021 06:40 PM (IST)

सीहोर। सूदखोरों की प्रातड़ना से तंग आकर शनिवार दोपहर को एक व्यक्ति परमानंद मंगरोलिया ने चलती ट्रेन के सामने कूद गया, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। उसने पुलिस के नाम एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें दो लोगों के नाम लिखकर बताया कि वह उसे ब्याज राशि के लिए परेशान कर रहे हैं। आए दिन घर पर पहुंचकर धमकी देते, दस गुना से अधिक पैसे ब्याज के रूप में देने के बाद भी पैसे वसूल कर रहे है। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंप दिया है, वहीं सुसाइड नोट जब्त कर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। परिजनों ने आरोपितों के खिलाफ थाना कोतवाली पहुंचकर मामला दर्ज कराया है।

जानकारी के अनुसार शनिवार की दोपहर कोतवाली थाना क्षेत्र के मुरली रेलवे क्रासिंग के पास मुरदी मोहल्ला निवासी परमानंद मंगरोलिया उम्र 50 वर्ष ने चलती ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को उनके पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें दस प्रतिशत ब्याज से परेशानी का जिक्र है। सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं परमानंद अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं। क्योंकि मेरा जीवन बहुत खराब हो चुका है। कुछ लोगों ने मुझे बर्बाद कर डाला है। जितना इन लोगों से पैसा नहीं लिया था उससे कहीं ज्यादा ब्याज दे चुका हूं। दस गुना से ज्यादा ब्याज देने के बाद भी इन लोगों ने मुझे बर्बाद कर डाला। लाखों रुपये इन लोगों ने मुझसे वसूल कर डाले फिर भी हजारों रुपये मेरे ऊपर निकाल रहे हैं। घर में नमक मिर्ची में भी उधारी हो गई है। मुझसे मेरे घर की और बच्चों की हालत नहीं देखी गई।

यह लोग मुझे रोज घर आकर गाली देते हैं। मारने की धमकी देते हैं। यह लोग अवैध शराब बेचते हैं। लोगों को उधार शराब पिलाकर उनसे पैसे मांगते हैं और डराते-धमकाते है और परेशान करते हैं। सुसाइड नोट में दीपक सोनकर, दिलीप सोनकर पिता रामदुलारे सोनकर नामक व्यक्ति के नाम लिखे हुए हैं। इन लोगों ने कई घर बर्बाद किए हैं। पुलिस चाहे तो इनकी खोजबीन कर जांच करे तो सच्चाई पता चल जाएगी।

मामला दर्ज कराने परिजन पहुंचे कोतवाली थाने

घटना के बाद आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कराने सहित गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजन सहित बड़ी संख्या में मृतक की समाज के लोग थाना कोतवाली पहुंचे। जहां मृतक के बड़े बेटे मीतेश मगरोलिया ने पुलिस को बताया कि कर्ज से पिताजी परेशान थे। आए दिन दिलीप सोनकर व दीपक सोनकर घर आकर पिताजी से बुरा-भला कहते थे। पैसों की मांग करने उन्हें मारने की धमकी देते थे।

मामले को विवेचना में लेकर की जा रही जांच

मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट और परिजनों के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही है, वहीं पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है। क्योंकि वह घर से गायब हैं।- मयंक अवस्थी, एसपी सीहोर

Posted By: Prashant Pandey