HamburgerMenuButton

Seoni News: भीमगढ़ बांध की मुख्‍य नहर फूटी, सिंचाई कार्य प्रभाव‍ित

Updated: | Thu, 28 Jan 2021 06:32 PM (IST)

Seoni News: सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संजय सरोवर (भीमगढ़) की आरबीसी नहर चैन 720 पर समनापुर डोकररांजी के पास गणतंत्र दिवस की रात फूट गई। इससे बड़े रकबे में लगी गेहूं की फसल में नहर का पानी भर गया है। बुधवार सुबह जानकारी मिलते ही किसान खेतों की ओर दौड़ पड़े। नहर से लगे कुछ खेतों में पानी भर गया तो नहर में पानी पूरी रफ्तार में होने के कारण पानी आगे के खेतों में जा रहा था।

किसानों का दावा है कि छह से ज्यादा गांव की करीब 100 एकड़ में लगी फसल नहर फूटने से प्रभावित हुई है। हालांकि सिंचाई अधिकारियों का कहना है कि कुछ हिस्सा प्रभावित हुआ है। किसानों ने सर्वे कर मुआवजा दिलाने की मांग की है। फिलहाल नहर को बंद कर मरम्मत कार्य शुरू कर दिया गया है। ऐसे में क्षेत्र की फसलों की सिंचाई का काम रूक गया है।

40 साल पुरानी नहर

संजय सरोवर भीमगढ़ बांध की आरबीसी (दायीं तट) नहर का निर्माण 40 साल पहले हुआ था। तीस साल पहले 1990 में मेनकेनाल में लाइनिंग का काम किया गया था। किसानों का आरोप है कि लापरवाही से केनाल फूटी है। आरबीसी नहर की कुल लंबाई 90 किमी है, इससे जुड़े 65 गांव के करीब 35 हजार हेक्टेयर को सिंचाई का पानी रबी सीजन में दिया जाता है।

केकड़ों ने बना दिए थे बड़े सुराख

कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग संभाग केवलारी पीसी महाजन ने बताया कि केकड़ों व चूहों द्वारा नहर में बड़े-बड़े सुराख करने से नहर फूटी है। धीरे-धीरे नहर की दीवार में किया गया सुराख बड़ा होता गया, जिससे नहर का एक हिस्सा ढह गया। केकड़े नहर की वॉल में होल करते हैं। केकड़ों को खाने के लिए चूहे भी बड़ी संख्या में आते हैं और वे नहर में होल करते जाते हैं। ऐसे में नहर का हिस्सा कमजोर होने से पानी के दबाव में फूट जाता है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.