HamburgerMenuButton

Ujjain Car Accident: पुल की रेलिंग तोड़कर गंभीर नदी में गिरी कार, दो शव मिले

Updated: | Mon, 25 Jan 2021 08:44 AM (IST)

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बड़नगर रोड पर गांव खड़ौतिया में गंभीर नदी पर बने पुल की रेलिंग तोड़कर कार नीचे नदी में जा गिरी। कार में युवक, उसकी पत्नी और छोटा भाई सवार था। दुर्घटना में भाई और पत्नी की मौत हो गई। युवक की तलाश अंधेरा होने से बंद कर दी गई। सोमवार सुबह फिर तलाश की जाएगी।

एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने बताया कि रविवार सुबह दुर्घटना की सूचना मिली थी। इस पर बचाव टीम को बुलाया गया। चार घंटे चले अभियान के बाद क्रेन से कार निकाली जा सकी। कार में 28 वर्षीय अनुराग तिवारी व उसकी भाभी 25 वर्षीय प्रियंका तिवारी निवासी सिवान, बिहार के शव मिले। प्रियंका के पति अविनाश की तलाश में गोताखोरों की टीमें लगी रहीं। । एसपी शुक्ला ने बताया कि अविनाश, अनुराग, प्रियंका के साथ बड़े भाई अभय तिवारी से मिलने वड़ोदरा (गुजरात) जा रहे थे।

कार में मिले छह बैग और दो तस्वीरें

पुलिस ने बताया कि कार में छह बैग और दो तस्वीरें मिली हैं। तस्वीरें परिवार के मृत सदस्यों की है। एक तस्वीर पर स्व. राजेंद्र प्रसाद तिवारी व दूसरी पर स्व. लाखपति कुंवर बाई लिखा है।बैग में किताब-कॉपी भी मिली हैं।

ग्रामीणों ने भी की पुलिस की मदद : जब पुलिस पहुंची तो नदी में मछली पालने वाले ग्रामीण डोंगी लेकर घटनास्थल पर पहुंच गए थे और काफी देर की मशक्कत के कार को नदी से बाहर निकलवाया।

होमगार्ड जवान के रिश्तेदार ने दी पुलिस को सूचना : डीएसपी सुरेंद्र सिंह राठौड़ ने बताया कि सुबह करीब 8: 30 बजे होमगार्ड जवान का रिश्तेदार पुल से गुजर रहा था। उसने पुल की रेलिंग टूटी देखी और पुल पर और नदी में भी आइल फैला देखा। इसके आधार पर उसने पुलिस को सूचना दी।

चुंबक से कार का पता चला : गोताखोर लियाकत ने चुंबक लेकर नदी में गोता लगाया। इसके बाद कार नदी में किस जगह गिरी है, इसका पता लगा। अभियान चलाकर कार को निकाला गया। वाहन करीब 35 फीट गहरी नदी में पड़ा हुआ था।

27 नवंबर को शादी हुई थी, कानपुर से बड़ौदरा जा रहे थे

आइजी राकेश गुप्ता ने बताया कि उनके पास ग्वालियर से आइजी संतोष कुमारसिंह का फोन आया था। ओडिशा कैडर के एक आइपीएस अधिकारी मृतकों के परिचित थे। आइजी संतोष कुमार सिंह का कहना था कि रात से ही सभी के मोबाइल फोन बंद बताए जा रहे थे।

मोबाइल की लोकेशन लगातार उज्जैन के बड़नगर रोड पर चिकली के समीप आ रही थी। इस आधार पर आइजी राकेश गुप्ता ने एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला को भी जानकारी दी। प्रियंका की अविनाश से 27 नवंबर को ही शादी हुई थी। अविनाश, अनुराग और प्रियंका तीनों कानपुर से वड़ोदरा अपने बड़े भाई अभय तिवारी से मिलने जा रहे थे।

Posted By: Prashant Pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.