ujjain crime news: लोन दिलाने का झांसा देकर 3.35 लाख रुपये की धोखाधड़ी

ग्राम चकवासा निवासी एक व्यक्ति के साथ लोन दिलाने का झांसा देकर 3.35 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है।

Updated: | Tue, 24 May 2022 04:11 PM (IST)

ujjain crime news: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्राम चकवासा निवासी एक व्यक्ति के साथ लोन दिलाने का झांसा देकर 3.35 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। आरोपित ने लोन की एफडी करवाने तथा फाइल चार्ज के नाम पर 75 हजार रुपये नकद ले लिए और इसके अलावा उससे खाली चेक पर साइन करवाकर लिए थे। इसके माध्यम से 2.60 लाख रुपये बैंक खाते से निकाल लिए। ठगाए युवक ने एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला को शिकायत की है।

जयदीप पटेल उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम चकवासा को उसकी पड़ोस में रहने वाली महिला संध्या ने अपने परिचित रामचंद्र से लोन दिलाने के लिए मिलवाया था। रामचंद्र ने मकान के पट्टे व जमीन पर 14 लाख रुपये लोन निजी फाइनेंस कंपनी से दिलवाने का झांसा दिया था। इसके बाद उससे फाइल चार्ज व लोन की एफडी करवाने के नाम पर 75 हजार रुपये ले लिए थे। रामचंद्र ने जयदीप को कहा था कि लोन हो जाने के बाद 75 हजार रुपये और देना होंगे। इसके बाद उसे फर्जी लोन सेंशन लेटर थमा दिया था। काफी दिनों तक बैंक खाते में रुपये नहीं आने पर जयदीप फ्रीगंज स्थित फाइनेंस कंपनी के कार्यालय में पहुंचा तो पता चला कि रामचंद्र नाम का कोई व्यक्ति उनके यहां काम नहीं करता है। वहीं रामचंद्र ने लोन सेंशन होने का जो लेटर दिया था वह भी फर्जी है। उस पर दर्ज नंबर राजस्थान के किसी व्यक्ति के लोन का था वह लोन भी पूरा जमा हो चुका है।

चेक से निकाल लिए 2.60 लाख रुपयेः जयदीप ने बताया कि रामचंद्र ने उससे दो खाली चेक पर साइन करवाकर ले लिए थे। उसका कहना था कि दोनों चेक फाइनेंस कंपनी में जमा होंगे, मगर उसने दोनों चेक अपनी पत्नी के बैंक खाते में जमा कर उसके माध्यम से 2.60 लाख रुपये निकाल लिए। रामचंद्र ने कुल 3.35 लाख रुपये की ठगी की है।

Posted By: Nai Dunia News Network
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.