HamburgerMenuButton

Bad weather : विदिशा के धामनोद में गिरे ओले, हजारों क्विंटल गेहूं भीगा

Updated: | Mon, 10 May 2021 08:43 PM (IST)

विदिशा। जिले की ग्यारसपुर तहसील के ग्राम धामनोद, कोलुआ, बेहलोट, गुन्नौठा, खिरिया, दासीपुर, पोतला और हैदरगढ़ सहित कुछ अन्य गांवों में सोमवार की दोपहर को तेज आंधी के साथ जोरदार बारिश हुई। इस दौरान करीब आधा घंटे तक आंवले से बड़े आकार के ओले गिरे। जिसके चलते खेतों और सड़कों पर बर्फ की चादर जम गई। इन गांवों में समर्थन मूल्य के गेहूं खरीदी केंद्रों पर लगभग 10 हजार क्विंटल गेहूं भीग गया। तेज आंधी के कारण घरों और गोदामों के छप्पर उड़ गए। वहीं सड़कों के किनारे खड़े पेड़ और बिजली के खंभे धराशायी हो गए।

जिले में पिछले दो दिनों से मौसम बिगड़ा हुआ है। रविवार की रात को भी विदिशा, लटेरी, आनंदपुर और गंजबासौदा सहित क्षेत्र में बारिश हुई थी। इस दौरान गंजबासौदा के बरेठ क्षेत्र में जमकर आंधी चली थी। वहीं सोमवार की सुबह आसमान साफ था। लेकिन दोपहर के बाद आसमान पर बादल छाने लगे। शहरी क्षेत्रों में मौसम साफ रहा लेकिन ग्यारसपुर के हैदरगढ़ क्षेत्र में दोपहर 3 बजे से 4 बजे तक तेज आंधी के साथ धुंआधार बारिश हुई। बारिश के साथ ही 50 ग्राम से अधिक वजनी ओले भी गिरने लगे। खरीदी केंद्रों पर मौजूद किसान ओलों से बचने के लिए इधर, उधर भागते नजर आए। ओलावृष्टि का सबसे अधिक असर ग्राम धामनोद, कोलुआ और गुन्न्ौठा और बेहलोट में देखने को मिला। यहां के ग्रामीणों ने बताया कि घरों के बाहर और सड़कों पर ओले की मोटी चादर जम गई थी। खेतों में भी जमीन पर सफेद चादर जैसा दिखाई दे रहा था।

केंद्रों पर भीगा हजारों क्विंटल गेहूं

धामनोद सहकारी समिति प्रबंधक नारायण प्रसाद शर्मा ने बताया कि बारिश के कारण खुले में रखा लगभग 3028 क्विंटल गेहूं भीग गया है। इधर, कोलुआ के समिति प्रबंधक प्रकाश यादव ने बताया कि उनके खरीदी केंद्र पर करीब सौ क्विंटल गेहूं भीगा है। वहीं गुन्नौठा में लगभग 3 हजार क्विंटल गेहूं पानी में भीगा है। उन्होंने बताया कि कोलुआ में एक निजी वेयर हाउस में करीब 15 हजार क्विंटल गेहूं रखा हुआ है। आंधी में गोदाम के चद्दर उड़ जाने के कारण पानी भीतर पहुंच गया। जिसकी वजह से बड़ी मात्रा में गेहूं भीगा है।

Posted By: Lalit Katariya
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.