Vidisha news: बेतवा नदी में कूदी युवती, तलाश में जुटी रेस्क्यू टीम

Updated: | Fri, 30 Jul 2021 11:12 AM (IST)

Vidisha news: विदिशा, नवदुनिया प्रतिनिधि। बेतवा के पुराने पुल से एक 18 साल की युवती नदी में कूद गई। होमगार्ड की रेस्क्यू टीम उसकी तलाश में जुटी है। घटना शुक्रवार सुबह करीब 5:30 बजे की बताई जा रही है। युवती के पिता नदी पुरा निवासी हल्के राम कुशवाहा ने बताया कि पारिवारिक विवाद के कारण उनकी बेटी राधिका घर से सुबह निकली और यहां आकर नदी में कूद गई। उसके पीछे स्वजन भी आये लेकिन तब तक वह कूद चुकी थी। यहां से गुजर रहे कुछ लोगों ने बताया कि युवती कुछ देर तक पुल पर खड़ी रही। उसके बाद उसने अपना मोबाइल नीचे जमीन पर मारा और नदी में छलांग लगा दी।

घटना की सूचना मिलते ही होमगार्ड की रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल युवती की तलाश की जा रही है। अब तक उसका कुछ पता नहीं चल पाया है। बेतवा के छोटे पुल के पास जलकुंभी अधिक होने से रेस्क्यू टीम को नाव चलाने में भी परेशानी हुई। टीम को नाव का इंजन बदलना पड़ा, इसमें समय भी अधिक लगा। होमगार्ड सैनिक रामबाबू यादव ने बताया कि जलकुंभी के कारण इंजन में कचरा फंस रहा था इसलिए इंजन को बदलना पड़ा। सूचना के बाद मौके पर कोतवाली थाना पुलिस भी पहुंच गई।

इधर, बारिश के दौरान बेतवा के घाटों पर सुरक्षा इंतजामों की मांग हो रही है। मुक्ति धाम सेवा समिति के सचिव मनोज पांडे के मुताबिक वर्षा काल और बाढ़ जैसे हालातों में बेतवा नदी के घाटों पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जाना चाहिए। यहां होमगार्ड सहित पुलिस के जवान प्रत्येक घाटों पर मौजूद रहें जिससे लोगों के जानमाल की सुरक्षा की जा सके। अगर यहां होमगार्ड या पुलिस के जवान तैनात होते तो इस घटना को होने से बचाया जा सकता था। लड़की पहले छोटे पुल पर काफी देर खड़ी रही थी उसी बीच उसे बचाया जा सकता था। रेस्क्यू के समय मोटर बोट कुछ दूरी पर चलते ही खराब हो गई। ऐसी बाढ़ की स्थिति में संसाधनों का ऐसे खराब होना जीवन मूल्यों पर प्रश्नचिन्ह जरूर खड़ा करता है। पांडे ने कहा कि जलकुंभी पूरे क्षेत्र में फंसी पड़ी है, उसको भी डिस्ट्रॉय करना चाहिए।

Posted By: Ravindra Soni