2019 Pulwama आतंकी हमले में IED लगाने वाला अबु सैफुल्ला ढेर, मसूद अजहर का था करीबी

Updated: | Sat, 31 Jul 2021 02:34 PM (IST)

2019 Pulwama Terror Attack: साल 2019 के पुलवामा आतंकी हमले के दौरान आईईडी लगाने वाले जैश के कमांडर अबु सैफुल्लाह उर्फ लंबू को सेना ने एक मुठभेड़ में मार गिराया है। अबु सैफुल्लाह जम्मू कश्मीर में कई आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुका है और मौलाना मसूद अजहर का करीबी रिश्तेदार था। सेना के मुताबिक, पुलवामा में हुई मुठभेड़ में सेना को यह बड़ी कायमाबी हाथ लगी है। अबू सैफुल्ला 207 से घाटी में सक्रिया था और अदनान, इस्माइल और लंबू के नाम से रह रहा था। सेना के अधिकारियों के मतुाबिक, सैफुल्ला आईईडी लगाने का एक्सपर्ट था। मुठभेड़ में उसके साथ एक और आतंकी मारा गया है।

सैन्य अधिकारियों के मुताबिक, अबु सैफुल्ला 14 फरवरी, 2019 को हुए पुलवामा हमले सहित अन्य आतंकी हमलों में शामिल था। वह रऊफ अजहर, मौलाना मसूद अजहर समेत JeM के आकाओं का मजबूत सहयोगी था। वाहनों में विस्फोटक लगाकर धमाके करने में उसे महारथ हाथ थी। अधिकारियों ने कहा कि वह तालिबान से भी जुड़ा था। उसने JeM संगठन को फिर से स्थापित करने और मजबूत करने की कोशिश की और अवंतीपोरा, विशेष रूप से पुलवामा के काकपोरा और पंपोर क्षेत्रों का उपयोग नए आतंकवादी समूहों की भर्ती के लिए और हमलों को अंजाम देने के लिए किया।

शनिवार को हुई मुठभेड़ में मारे गए दूसरे आतंकवादी की पहचान की जा रही है। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एम-4 राइफल, एके-47 राइफल, एक ग्लॉक पिस्टल और एक अन्य पिस्टल बरामद किया गया है। पुलिस ने कहा कि सुरक्षा बलों ने सुबह संयुक्त अभियान शुरू किया और घेराबंदी तथा तलाशी अभियान के दौरान गोलीबारी शुरू हो गई।

Posted By: Arvind Dubey