Amit Shah JK Visit LIVE: जम्मू की रैली में बोले अमित शाह, एक देश में दो निशान - दो विधान नहीं चलेंगे

Updated: | Sun, 24 Oct 2021 02:21 PM (IST)

Amit Shah JK Visit LIVE: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिनी जम्मू-कश्मीर दौर पर हैं। दौरे के दूसरे दिन अमित शाह जम्मू में हैं। यहां एक रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि एक देश में दो निशाना और दो विधान नहीं चलेंगे। उन्होंने कहा, आर्टिकल 370 हटने के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर आया हूं और सभी को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि अब यहां के लोगों के साथ अन्याय नहीं होगा। कोई दहशतगर्द आपका कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा। केंद्र सरकार की हर योजना का फायदा यहां के हर नागरिक को मिलेगा। शाह ने बताया कि जम्मू में 7000 करोड़ और कश्मीर में 5000 करोड़ रुपए के निवेश का रास्ता साफ हो चुका है।

इससे पहले शाह शनिवार को श्रीनगर पहुंचे। एयरपोर्ट पर उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने स्वागत किया। केंद्रीय गृहमंत्री सबसे पहले शहीद पुलिस इंस्पेक्टर परवेज अहमद के घर गए और श्रंद्धाजलि दी। आतंकियों ने 22 जून को परवेज की हत्या कर दी थी। इसके बाद घाटी की सुरक्षा को लेकर आला अधिकारियों के साथ बैठक की। (नीचे देखिए फोटो वीडियो) जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद यह पहला मौका है जब Amit Shah श्रीनगर का दौरा कर रहे हैं। वहीं हाल के दिनों में नागरिकों की हत्या के बाद भी यह दौरा अहम माना जा रहा है। सेना और पुलिस ने पिछले 13 दिनों में 15 आतंकियों को मौत के घाट उतारा है। कहा जा रहा है कि आतंकियों ने Amit Shah को जम्मू-कश्मीर आने से रोकने के लिए टारगेट कीलिंग शुरू की थी, लेकिन सेना ने आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब दिया।

फोटो: अमित शाह श्रीनगर के नौगाम में शहीद इंस्पेक्टर परवेज अहमद के घर पर उनके परिवार से मुलाकात करते हुए। यहां शाह ने अहमद की पत्नी फातिमा अख्तर से मुलाकात की और उन्हें सरकारी नौकरी के लिए आधिकारिक कागजात दिए। इस दौराान जम्मू-कश्मीर एलजी मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और डीजीपी दिलबाग सिंह मौजूद रहे।

वीडियो: गृह मंत्री ने सुरक्षा की समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया

हाल ही में, जम्मू और कश्मीर में गैर-स्थानीय लोगों की हत्याओं के बाद केंद्र शासित प्रदेश में लगभग 700 लोगों को हिरासत में लिया गया है। कुछ पर कड़े सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (PSA) के तहत केस दर्ज किया गया है।

इस बीच, जन सुरक्षा अधिनियम 1978 के तहत जम्मू-कश्मीर से कुल 26 बंदियों को आगरा की केंद्रीय जेल में स्थानांतरित किया जा रहा है। शाह के शनिवार से शुरू होने वाले केंद्र शासित प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे से पहले यह आदेश जारी किया गया है।

Amit Shah ने शुक्रवार को मनाया जन्मदिन, देशभर से मिलीं बधाइयां

Posted By: Arvind Dubey