Mumbai: महाराष्ट्र सरकार का सख्त एक्शन, मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को किया निलंबित

Updated: | Thu, 02 Dec 2021 07:57 PM (IST)

Antilia Blast Case: महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Param Bir Singh) को निलंबित कर दिया। सिंह को महानिदेशक (होमगार्ड्स) के पद पर तैनात किया गया है, लेकिन वह छुट्टी पर हैं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उस फाइल पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। जिसमें परमबीर को निलंबित करने की सिफारिश की गई थीं। सिंह पर आईएएस अधिकारी देबाशीष चक्रवर्ती की रिपोर्ट के तहत राज्य सरकार ने जांच का गठन किया गया था। रिपोर्ट में परमबीर को अखिल भारतीय सिविल सेवा नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया गया था।

गंभीर खामियां पाई गईं

सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट में परमबीर सिंह द्वारा एंटीलिया ब्लास्ट केस को संभालने के तरीके में गंभीर खामियां पाई गईं। सिंह पर इस मामले को लेकर गुमराह करने का आरोप लगा है। उनपर सरकार को इस केस में सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे की संलिप्तता के बारे में सच्चाई नहीं बताने का भी आरोप है।

मुकेश अंबानी के घर के पास मिली थी विस्फोटक कार

परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटा दिया गया था, क्योंकि सचिन वाजे एक गवाह मनसुख हिरेन की हत्या में शामिल थे। जिनके वाहन में विस्फोटक उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बार रखे गए थे। बाद में पता चला कि सचिन ने अंबानी के घर के पास कार खड़ी की थीं।

अनिल देशमुख पर लगाया आरोप

मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाए जाने के बाद परमबीर सिंह ने प्रदेश सरकार को एक पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। तत्कालीन गृहमंत्री अनिल देशमुख आदेश देने में उनकी उपेक्षा कर रहे थे। सिंह ने आरोप लगाया कि देशमुख ने पुलिस अधिकारियों से फिरौती के तौर पर 100 करोड़ रुपए की मांग की थी। इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने देशमुख को गिरफ्तार किया है।

Posted By: Shailendra Kumar