Captain Amarinder Singh बोले, नई पार्टी बना रहा हूं, चुनाव आयोग की मंजूरी के बाद बताऊंगा नाम

Updated: | Wed, 27 Oct 2021 11:32 AM (IST)

Captain Amarinder Singh new party । पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस के खफा होने के बाद आखिरकार आज नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है। मीडिया से बात करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज कहा कि मैं एक पार्टी बना रहा हूं। अब सवाल ये है कि पार्टी का नाम क्या है, ये मैं आपको नहीं बता सकता क्योंकि ये मैं खुद नहीं जानता। जब चुनाव आयोग पार्टी के नाम और चिन्ह को मंजूर करता है, मैं आपको बता दूंगा। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सुरक्षा उपायों को लेकर जो मेरा मखौल उड़ाते हैं, मैं 10 साल सेना में रहा हूं। दूसरी तरफ मैं 9.5 साल पंजाब का गृह मंत्री रहा और संवेदनशील मुद्दे मेरे अधीन थे। जो एक महीने गृह मंत्री रहा वो कहता है कि वो मुझसे ज़्यादा जानता है। कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा नई पार्टी बनाने का ऐलान करने के बाद से ही पंजाब में विशेषकर चंडीगढ़ में सुबह से ही राजनीतिक हड़कंप मच गया है।

पंजाब में बन सकते हैं नए सियासी समीकरण

Captain Amarinder Singh आज पंजाब की राजनीति में नया दांव चलेंगे और इस ऐलान के साथ ही पंजाब में नए सियासी समीकरण भी बन सकते हैं। Captain Amarinder Singh ने बुधवार सुबह ही अपने करीबी नेताओं और समर्थकों से चर्चा की है, साथ ही कुछ पुराने नेता और कांग्रेस विधायक भी उनके संपर्क में है।

कैप्टन की पार्टी के नाम में जरूर होगा कांग्रेस शब्द

Captain Amarinder Singh के करीबी सूत्रों ने बताया कि उनकी नई पार्टी के नाम में कांग्रेस शब्द जरूर होगा। उनकी रणनीति राज्य में कांग्रेस की जगह अपनी पार्टी बनाने की होगी। कांग्रेस में अंदरुनी कलह के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बीते दिनों अपनी खुद की पार्टी बनाने की बात कही थी। साथ ही इस संबंध में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल से अलग हुए गुटों से गठबंधन करने की बात कही थी। बीजेपी से गठबंधन के लिए उन्होंने कृषि कानून के मुद्दे के समाधान और किसान आंदोलन को खत्म करने की शर्त भी रखी थी। Captain Amarinder Singh ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी और पंजाब में राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से भी मुलाकात की थी।

Posted By: Sandeep Chourey