HamburgerMenuButton

Corona Latest Alert: अगले 3 हफ्ते होंगे बहुत मुश्किल भरे, घबराएं नहीं, करेंं बस यह काम

Updated: | Tue, 20 Apr 2021 07:23 AM (IST)

Corona Latest Alert: देश में कोरोना का कहर हर तरफ दिखाई दे रहा है। ऐसे में हर किसी के मन में यही सवाल है कि इन्सानियत की सबसे बड़ी दुश्मन बन बैठी इस महामारी का खात्मा आखिर तब तक होगा। हालांकि अभी इसका जवाब किसी के पास नहीं है, लेकिन इस बीच सीएसआइआर-सीसीएमबी (सेंटर फार सेल्युलर एंड मालीक्युलर बायोलॉजी) केडायरेक्टर राजेश मिश्रा ने कहा है कि देश में कोरोना के प्रकोप को देखते हुए अगले तीन हफ्ते बहुत ही संकटपूर्ण हैं। उन्होंने देशवासियों से कोरोना गाइडलाइन का बहुत कड़ाई से पालन करने को कहा है। मिश्रा के मुताबिक, लोगों को खुद को संक्रमित होने से बचाने के लिए बहुत सख्ती से कोरोना संबंधी नियमों का पालन करना चाहिए। अगले तीन हफ्ते देश पर बहुत भारी हैं। लोग इस दौरान बहुत सावधानी और सतर्कता बरतें। अस्पतालों में बेड, आक्सीजन, वैक्सीन की किल्लत पर उन्होंने कहा कि यह स्थिति कुछ दिन और जारी रही तो देश तबाही की हालत में पहुंच जाएगा।

इटली में हो चुके भयावह हालात

राजेश मिश्रा ने कहा कि हम इटली में ये हालात देख चुके हैं। वहां दवाओं और आक्सीजन की कमी से अस्पताल के गलियारों में लोगों ने दम तोड़ दिया। पिछले साल कोरोना से निपटने में स्वास्थ्य कर्मी बहुत प्रभावी थे।

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर उन्होंने कहा कि देश में कोरोना की दूसरी लहर संभावित थी। पिछले कुछ महीनों में विशेषज्ञों ने कई मौकों पर कहा था कि वायरस का प्रभाव कम हुआ है लेकिन इसका अभी पूरी तरह सफाया नहीं हुआ है। हमें ऐसी स्थिति के लिए थोड़ा और सतर्क रहना चाहिए था।

दूसरी लहर होती है ज्यादा खतरनाक

राजेश मिश्रा के अनुसार, कोरोना जैसी महामारियों में दूसरी लहर जरूर आती है। दूसरी लहर में वायरस म्यूटेट होकर ज्यादा तेजी से हमला करता है। इस समय वायरस के बहुत से म्यूटेंट देखने को मिल रहे हैं। अगर लोगों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया तो बहुतेरे लोग इसकी चपेट में आएंगे। उन्होंने कहा कि हर दिन संक्रमण के मामले बढ़ने के पीछे मुख्य कारण लोगों का सावधानी न बरतना है। लोगों ने यह सोचकर कि कोरोना चला गया है, मास्क लगाना ही छोड़ दिया।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.