HamburgerMenuButton

चक्रवात से गुजरात के सौराष्‍ट्र में बड़े नुकसान की आशंका, वायुसेना की मदद से लोगों को करेंगे एयर लिफ्ट

Updated: | Mon, 17 May 2021 11:41 PM (IST)

अहमदाबाद। अरब सागर से उठे टाक्‍टे चक्रवात के कारण गुजरात के सौराष्‍ट्र में भारी नुकसान की आंशका है। मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा है कि बडी संख्‍या में पेड, सौलर पैनल व बिजली के खंभे धराशाई होने व कई गांवों में बिजली गुल होने की खबर है। पानी फंसे लोगों को एयरलिफ्ट करने के लिए वायू सेना से मदद ली जाएगी। जानकारी के अनुसार बिजली के सौ से अधिक खंभे गिरने से करीब 9 सौ गांव में बिजली गुल हुई है। मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी चक्रवात को लेकर उपजे संकट पर निगरानी रखने के लिए सोमवार शाम को ही गांधीनगर स्थित नियंत्रण कक्ष पहुंच गये थे। सौराष्‍ट्र के करीब चक्रवात के लेंडफॉल की प्रक्रिया के दौरान उन्‍होंने बताया कि चक्रवात का असर मंगलवार तडके तक रहेगा। जरुरत पडी तो पानी में फंसे लोगों को एयरलिफ़ट करेंगे! वायूसेना को तैयार रहने को कहा गया है। रूपाणी ने बताया कि सौराष्‍ट्र में बडी संख्‍या में पेड व बिजली के खंभे धराशाई हुए हैं। जानकारी के अनुसार सौ से अधिक बिजली के खंभे गिर जाने से नौ सौ से अधिक गांवों में बिजली गुल हो चुकी है, चक्रवात के पूर्ण हो जाने के बाद यह आंकडा बढने की आशंका है। ऐसे हालात से निपटने के लिए सरकार ने बिजली विभाग की 600 से अधिक टीमें तैयार कर चक्रवात प्रभावित जिलों में नियुक्‍त कर रखी है।

चक्रवात का सबसे अधिक असर सौराष्‍ट्र के गीर सोमनाथ अमरेली, जूनागढ भावनगर पर देखा जा रहा है जहां 100 से 150 किमी प्रति घंटे की रफ़तार से तेज हवाएं चल रही है। राजस्‍व विभाग के अतिरिक्‍त मुख्‍य सचिव पंकज कुमार ने बताया कि 72 गर्भवती महिलाओं को भी सुरक्षित अस्पतालों में भर्ती करा दिया गया है तथा चक्रवात प्रभावित जिलों में 85 आईसीयू ऑन व्हील एंबुलेंस तैनात किए गए हैं ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके।

Posted By: Navodit Saktawat
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.