Gulab Cyclone: कमजोर पड़ा गुलाब चक्रवात, अब इन राज्यों में बदलेगा मौसम

Updated: | Mon, 27 Sep 2021 02:27 PM (IST)

नई दिल्ली ​​Gulab cyclone heavy rain in Andhra pradesh। आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों से टकराने के बाद गुलाब चक्रवात कमजोर पड़ गया लेकिन इन दोनों राज्यों में अभी भी बारिश का सिलसिला जारी है। इस बीच यह भी सूचना मिली है कि करीब 6 मछुआरे लापता है और इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। गुलाब चक्रवात के कारण आंध्र प्रदेश और ओडिशा में कई मकानों के क्षतिग्रस्त होने और पेड़ों के गिरने की खबर है। प्रधानमंत्री मोदी नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री रेड्डी और ओडिशा के मुख्यमंत्री पटनायक से बात की और स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। इस बीच NDRF की टीम ने आंध्र प्रदेश के बंदरुवानीपेटा और कलिंगपटनम गांवों में राहत और बचाव अभियान चलाया है। NDRF के DG सत्यनारायण प्रधान ने बताया था कि राज्य की 13 टीमों (24 सब टीमें) एनडीआरएफ को ओडिशा में और पांच टीमों को आंध्र प्रदेश में तैनात किया गया है।

मुंबई पर दो दिनों तक रहेगी गुलाब चक्रवात का असर

मौसम का आकलन करने वाली निजी संस्था के प्रमुख वैज्ञानिक महेश पलावत ने कहा कि गुलाब चक्रवात का असर मुंबई में भी दिख सकता है। मुंबई में सोमवार और मंगलवार को कई इलाकों में मूसलाधार बारिश होगी। 27 और 28 सितंबर को मुंबई में हवा के साथ तेज बारिश हो सकती है।

इन जिलों में हो रही भारी बारिश

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि गुलाब चक्रवात के कारण गंजम, गजपति, कंधमाल, रायगडा, नबरंगपुर, कोरापुट और मलकानगिरी के साथ-साथ मध्य तटीय जिलों केंद्रपाड़ा, कटक, जगतसिंहपुर, खुर्दा, पुरी और नयागढ़ में हल्की से मध्यम बारिश हुई है। ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने रविवार देर रात कहा रात 9 बजे तक छह जिलों से करीब 39 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है।

मछुआरों को अभी भी समुद्र से दूर रहने की चेतावनी

इस बीच मौसम विभाग ने अभी भी आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा में मछुआरों को चक्रवात के मद्देनजर समुद्र तटों से दूर रहने को कहा गया है। मौसम विभाग के अनुसार 27 सितंबर तक समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी।

Posted By: Sandeep Chourey