ICMR ने चेताया, त्‍योहारों के दौरान रहें सतर्क, बढ़ सकता है कोरोना का खतरा

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 10:57 PM (IST)

देश में कोरोना का खतरा अभी पूरी तरह से नहीं टला है। तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच सरकार का टीकाकरण अभियान भी जारी है। आज सरकार ने जनता को आगामी त्‍योहारों के दौरान सतर्क रहने को कहा है। यदि इस दौरान संभल गए तो भविष्‍य में संक्रमण से निपटा जा सकेगा। ICMR के महानिदेशक डाक्टर बलराम भार्गव ने कहा कि त्योहार निकट आ रहे हैं और किसी भी जगह जनसंख्या घनत्व में अचानक वृद्धि से वायरस के प्रसार के लिए अनुकूल वातावरण बनता है। इसलिए हमें कोरोना संक्रमण के बचावों पर खास ध्यान में रखना होगा। इसके साथ ही नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डाक्टर वीके पाल ने बताया कि मिजोरम चिंता का विषय है। आने वाले 2-3 महीनों में हमें किसी भी तरह के कोरोना के मामलों में वृद्धि के प्रति सावधानी बरतनी होगी। हम सभी से आने वाली तिमाही में सावधान रहने का अनुरोध करते हैं।

उन्होंने कहा कि देश में कोरोना के मामलों की पाजिटिविटी लगातार कम हो रही है। ICMR के DG बलराम भार्गव ने कहा कि वैज्ञानिक और सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा चर्चा में इस समय बूस्टर खुराक केंद्रीय विषय नहीं है। दो खुराक का पूर्ण टीकाकरण प्राप्त करना एक प्रमुख प्राथमिकता है। कई एजेंसियों ने सिफारिश की है कि एंटीबॉडी के स्तर को नहीं मापा जाना चाहिए। साप्ताहिक पाजिटिविटी पिछले 11 सप्ताह से लगातार 3 फीसद से कम बनी हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 30,570 नए मामले सामने आए। वीके पॉल, सदस्य-स्वास्थ्य, नीति आयोग का कहना है कि इस समय मिजोरम चिंता का विषय है। आने वाले 2-3 महीनों में, हमें किसी भी तरह के COVID मामलों में वृद्धि के प्रति सावधानी बरतनी होगी। हम सभी से आने वाली तिमाही में सावधान रहने का अनुरोध करते हैं। केरल में भी मामलों की संख्या स्थिर होते देख हम खुश हैं।

इनमें से 68 फीसदी मामले केरल से सामने आए हैं। बाकी राज्यों में अभी भी कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। कोरोना के मौजूदा मामलों की जानकारी देते हुए भूषण ने कहा कि केरल एकमात्र ऐसा राज्य है जिसमें 1 लाख से ज्यादा सक्रिय मामले हैं। मिजोरम, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश ऐसे राज्य हैं जिसमें कोरोना के सक्रिय मामले 10,000 से 1 लाख के बीच हैं।

Posted By: Navodit Saktawat