साली से शादी की चाहत में शख्‍स ने अपनी चार बेटियों को जहर देकर मार डाला

Updated: | Sat, 18 Sep 2021 05:48 PM (IST)

जोधपुर। सरहदी जिले बाड़मेर के शिव उपखंड मैं मानवता को शर्मसार कर देने वाला एक मामला सामने आया है जहां कलयुगी पिता ने अपनी ही चाहत मासूम बेटियों को कीटनाशक देकर मार डाला। घटना के बाद पिता ने भी जहरखुरानी की, जिसका इलाज बाड़मेर में चल रहा है जबकि चारों बेटियां की मौत हो चुकी है। घटना राजस्थान के बाड़मेर जिले के शिव थाना क्षेत्र के पौषाल ग्राम पंचायत की है। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मौका मुआयना किया है। प्रारंभिक जानकारी में सामने आया है चारों बेटियों का बाप अपनी साली से विवाह करना चाहता था जिसमें सामाजिक बंदिशों के साथ चारों बेटियां भी रोड़ा बन रही थी। फिलहाल बेटियों के ननिहाल पक्ष की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस कार्यवाही कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार कोरोना महामारी के कारण मां की मौत के बाद ननिहाल रह रही चार मासूम बेटियों को कलयुगी पिता अपने घर ले आया, जिसके बाद चारों बेटियों को जहर खिलाकर मौत के घाट उतार दिया। वारदात के बाद आरोपी पिता ने भी जहर का सेवन कर लिया जिससे उनकी भी तबीयत बिगड़ी इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं घटना की जानकारी लगने पर शिव पुलिस मौके पर पहुंची।

मामला शिव थाना क्षेत्र के पौषाल गाव का है। आरोपी पुरखाराम पुत्र इसराराम जाति जाट शुक्रवार को अपनी सबसे बड़ी बेटी आठ वर्षीय जीयों व नोजी, लक्ष्मी व वसुधरा चारो को लेकर अपने घर गांव पौषाल आया था। देर रात उसने अपनी चारो बेटियों को जहर खिला दिया, जिसके बाद तबीयत बिगड़ने से चारों मासूम बैटियों की मौके पर मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी खुद ने भी जहर खा लिया। घायल अवस्था में पुरखाराम को प्राथमिक उपचार कर जिला चिकित्सालय भेजा गया जहॉ इलाज चल रहा है। व चारों बेटियों का शव शिव सीएससी के मोर्चरी में रखवाया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

साली से शादी करना चाहता था

प्रारंभिक पड़ताल में यह सामने आया है कि आरोपी अपनी साली से शादी करना चाहता था और उस की चाहत में ही उसके सर पर हैवानियत सवार हुई। जिसकी वजह से उसने अपनी चारों बेटियों को मौत के घाट उतार दिया। घटना के बाद आरोपी ने भी कीटनाशक का सेवन किया। पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से पुरखाराम को जिला अस्पताल पहुचाया है।

Posted By: Navodit Saktawat