भारतीय नौसेना होगी और मजबूत, अमेरिका से हुआ 423 करोड़ के टॉरपीडो खरीदना का करार

Updated: | Sat, 23 Oct 2021 04:45 PM (IST)

भारत ने नौसेना के लिए एमके 54 टॉरपीडो और एक्सपेंडेबल्स की खरीद के लिए अमेरिकी सरकार के साथ समझौता किया है। आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार रक्षा मंत्रालय ने 21 अक्टूबर 2021 को यूएस के साथ विदेशी सैन्य बिक्री के तहत टॉरपीडो और एक्सपेंडेबल (शैफ एंड फ्लेयर्स) की खरीद के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए है। दोनों देशों के बीच 423 करोड़ का करार हुआ है।

विज्ञप्ति में कहा गया कि ये हथियार पी-8आई विमान का हिस्सा है। जिसका इस्तेमाल लंबी दूरी की समुद्री निगरानी, पनडुब्बी रोधी युद्ध और सतह युद्ध के लिए किया जाता है। फिलहाल भारतीय नौसेना के पास कुल 11 पी-81 विमान हैं। जिनका निर्माण अमेरिकी एसरोस्पेस कंपनी बोइंग ने किया है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्विटर कर कहा कि सरकार ने 423 करोड़ रुपए की लागत से नौसेना के लिए एमके 54 टॉरपीडो और एक्सपेंडेबल की खरीद के लिए अमेरिकी सरकार के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए।

इधर रक्षा अनुंसधान एवं विकास संगठन ने ओडिशा के चांदीपुर एकीकृत परीक्षण रेंज के एलसी-3 से हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। स्वदेशी तकनीक से बना यह ड्रोन जमीन व हवा दोनों में टारगेट कर सकता है। यह परीक्षण के दौरान लक्ष्य पर सफलतापूर्वक पहुंचा। इस ड्रोन से भारतीय रक्षा प्रणाली को और मजबूती मिलेगी।

Posted By: Navodit Saktawat