HamburgerMenuButton

Kisan Tractor March: किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा, हमें ट्रैक्‍टर रैली के लिए पुलिस से मिली अनुमति

Updated: | Sun, 24 Jan 2021 05:05 PM (IST)

कृषि कानून के बाद ट्रैक्टर मार्च को लेकर किसानों ने अड़ियल रवैये के बीच खबर है कि दिल्ली पुलिस के साथ मार्च के रूट पर सहमति बन गई है। स्वराज इंडिया के योगेंद्र यादव ने कहा, आज दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ एक छोटी बैठक हुई। हमें ट्रैक्टर रैली के लिए पुलिस से औपचारिक अनुमति मिल गई है। जैसा कि मैंने पहले बताया, 'किसान गणतंत्र परेड' 26 जनवरी को शांतिपूर्ण तरीके से होगी।

इससे पहले दिन में सिंघु बॉर्डर पर पंजाब किसान संघर्ष समिति के सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि हम दिल्ली के आउटर रिंग रोड़ पर ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे, चाहे दिल्ली पुलिस अनुमति दे या न दे। इसके लिए हजारों किसान ट्रैक्टर लेकर दिल्ली पहुंच रहे हैं। इससे पहले बीती रात स्वराज इंडिया के योगेंद्र यादव ने ताजा बयान में कहा है कि किसान 26 जनवरी को 'किसान गणतंत्र परेड' निकालेंगे। बैरिकेड्स खोले जाएंगे और हम दिल्ली में प्रवेश करेंगे। हम (किसान और दिल्ली पुलिस) मार्ग पर एक समझौते पर पहुंच गए हैं। अंतिम विवरण आज रात को काम किया जाएगा। हम एक ऐतिहासिक और शांतिपूर्ण परेड निकालेंगे और इसका गणतंत्र दिवस परेड या सुरक्षा व्यवस्था पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। भारतीय किसान यूनियन के गुरनाम सिंह चादुनी ने कहा, मैं परेड में भाग लेने वाले किसानों से अनुशासन बनाए रखने और समिति द्वारा जारी निर्देश का पालन करने की अपील करना चाहता हूं। दिल्ली पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारी किसानों ने हमें (26 जनवरी को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के) रूट के बारे में कुछ भी लिखित में नहीं दिया है। कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में निकाली जाने वाली ट्रैक्टर रैली के लिए कई किसान ट्रैक्टरों में बदलाव करा रहे हैं। माछीवाड़ा के एक किसान ने दो लाख रुपये खर्च कर ट्रैक्टर ट्राली को बस बनवाया है।

भारतीय किसान यूनियन दोआबा का 200 ट्रैक्टरों का काफिला शनिवार को जब माछीवाड़ा शहर से गुजरा तो उसमें यह ट्रैक्टर ट्राली भी शामिल थी। गांव वजीदपुर के किसान करमजीत सिह ने बताया कि इस पर दो लाख रुपये से अधिक का खर्च आया है। करमजीत के अनुसार, उसने एक पुरानी बस का कैबिन खरीदा और उसकी मरम्मत कर ट्राली पर लगाया। बस में सीट व गद्दे भी बिछाए गए हैं।

Posted By: Navodit Saktawat
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.