HamburgerMenuButton

Nikita Tomar Love Jihad Murder Case: निकिता के 18 साल की होने का इंतजार किया तौशीफ ने, पढ़िए एकतरफा प्यार की पूरी कहानी

Updated: | Thu, 29 Oct 2020 07:17 AM (IST)

Nikita Tomar Love Jihad Murder Case: हरियाणा के बल्लभगढ़ में कॉलेज छात्रा निकिता तोमर की हत्या की चर्चा पूरे देश में है। वीडियो में पूरे देश ने देखा कि किस तरह एकतरफा प्यार में पाहल आशिक ने उसके अपहरण की कोशिश की और नाकाम रहने पर उसकी हत्या कर दी। आरोपी तौशीफ है, जो निकिता का धर्म परिवर्तन करवाना चाहता था। अब पूरे मामले में लव जिहाद के एंगल से देखा जा रहा है। इस बीच, आरोपी के एकतरफा प्यार की पूरी कहानी भी सामने आ गई है। किस तरह वह स्कूल से समय से लड़की के पीछे पड़ा था और किस तरह उनसे निकिता के बालिग होने का इंतजार किया। पढ़िए फरीदाबाद से सुशील भाटिया की रिपोर्ट

2018 में भी की थी हरकत, पैर पकड़कर मांगी थी माफी

Nikita Tomar शहर के एक निजी स्कूल में पांचवीं से 12वीं कक्षा तक पढ़ी है। आरोपित तौशीफ यूं तो कबीर नगर सोहना गुरुग्राम का मूल निवासी है, पर बल्लभगढ़ में Nikita Tomar के ही स्कूल में 12वीं कक्षा तक पढ़ा था और यहां हॉस्टल में रहता था। तभी से वो Nikita Tomar से एकतरफा प्यार करने लगा था। साल 2018 में उसने Nikita Tomar का अपहरण कर लिया था। उस वक्त वह बालिग नहीं थी। तब तौशीफ के खिलाफ थाना शहर में मामला भी दर्ज हुआ था। तौशीफ और उसके परिवार वालों ने पैर पकड़कर माफी मांगी थी। Nikita Tomar के पिता मूलचंद के अनुसार, इसलिए उन्होंने मुकदमा वापस ले लिया था। तौशीफ ने आश्वासन दिया था कि वह Nikita Tomar को दोबारा तंग नहीं करेगा।

तौशीफ ने किया Nikita Tomar के बालिग होने का इंतजार

पुलिस सूत्रों के अनुसार तौशीफ के मन में कुछ और ही चल रहा था। उसने Nikita Tomar के बालिग होने का इंतजार किया। उसे भरोसा था कि वह परिवार को छोड़कर उसके पास आ जाएगी। Nikita Tomar के बालिग होने के कारण उन्हें कानून का भी संरक्षण मिल जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। साल 2019 में Nikita Tomar बालिग हो गई। पिछले कुछ समय से तौशीफ ने लगातार उस पर मुस्लिम धर्म अपनाने और शादी का दबाव डालना शुरू किया, लेकिन उसने ऐसा करने से साफ इन्कार कर दिया। उसने खूब मनाने की कोशिश की पर वह नहीं मानी। तौशीफ फोन से या कॉलेज आते-जाते उससे संपर्क की कोशिश करता था।

...इसलिए रची Nikita Tomar के अपहरण की साजिश

जब उसे लगा कि वह उसके साथ आने को तैयार नहीं है तो उसने एक बार फिर Nikita Tomar के अपहरण की योजना बनाई। उसकी योजना देशी पिस्तौल दिखाकर अपहरण करने की थी। उसने निकिता पर नजर रखना शुरू कर दिया था। कालेज से उसे बीकाम आनर्स की डेटशीट पता चल गई। दो-तीन दिन उसने निकिता पर दूर खड़े रहकर नजर रखी थी, साथी रेहान को वह केवल अपहरण करने की बात कहकर ही साथ लाया था। जब Nikita Tomar कॉलेज से निकली तो तौशीफ ने उसे साथ चलने के लिए कहा। इसके बाद उसने निकिता को हाथ पकड़कर कार तक खींचा, मगर उसे अंदर नहीं बिठा सका। तब उसने निकिता को गोली मार दी। बहरहाल, आरोपी और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं पुलिस के पहले में निकिता का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: लव जेहाद में निकिता तोमर की हत्या पर सोशल मीडिया पर भड़का गुस्सा, पढ़िए कमेंट्स

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.