HamburgerMenuButton

Pension Yojana: इस राज्य में 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों और सभी विधवाओं को पेंशन

Updated: | Thu, 24 Sep 2020 09:49 AM (IST)

Pension Yojana: सरकारों की योजना का अहम हिस्सा वे बुजुर्ग भी होते हैं, वो उम्र के कारण कोई भी काम करने में असमर्थ होते हैं और उन्हें दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है। झारखंड सरकार ने ऐसे ही बुजुर्गों तथा विधाव महिलाओं के लिए पेंशन योजना का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के मुताबिक, झारखंड सरकार प्रदेश में रह रहे 60 साल से अधिक उम्र के योग्यताधारी बुजुर्गों तथा सभी विधवाओं को पेंशन देगी। पेंशन पाने की राह कैसे सरल हो, अफसरों से बात कर स्पष्ट दिशानिर्देश जारी किया जाएगा। साथ ही यह आंकलन भी लगाया जा रहा है कि इसका सरकारी खजाने पर कितना असर होगा। मुख्यमंत्री के मुताबिक, सरकार का उद्देश्य बुजुर्गों और विधवाओं को सीधे उनके खाते में आर्थिक मदद पहुंचाना है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यह भी कहा कि पात्रता रखने के बावजूद राशनकार्ड से वंचित लोगों को राशनकार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री शहरी श्रमिक योजना के तहत शहर के श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलेगा। अगर निबंधित श्रमिकों को किसी कारण से रोजगार नहीं मिलता है तो ऐसी स्थिति में उन्हें बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका में सरकार आपके द्वार कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

पेंशन के मोर्च पर केंद्र ने दी है यह बड़ी राहत

पेंशन के मोर्च पर केंद्र सरकार ने हाल ही में एक बड़ी राहत दी है। केंद्र सरकार ने लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने की तिथि 31 दिसंबर तक बढ़ा दी है। इसके तहत अब पेंशनभोगी अपना लाइफ सर्टिफिकेट यानी जीवित होने का प्रमाणपत्र पहली नवंबर से 31 दिसंबर तक जमा कर सकते हैं। इतना ही नहीं, इस वर्ष सरकार ने 80 वर्ष और उससे अधिक उम्र के पेंशनभोगियों के लिए यह सर्टिफिकेट जमा करने की सुविधा पहली अक्टूबर से ही देने का फैसला किया है। इस अवधि के दौरान पेंशनभोगियों को भुगतान होता रहेगा। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.