PM मोदी ने किया आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ, वाराणसी में 5189 करोड़ परियोजनाओं का उद्घाटन

Updated: | Mon, 25 Oct 2021 03:44 PM (IST)

PM Modi UP Visit । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरप्रदेश में 9 मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में "प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना" का भी शुभारंभ किया। वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी ने 5189 करोड़ की 28 परियोजनाओं की सौगात दी। यहां कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है। बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से, काशीवासियों के अखंड विश्वास से, सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है। आज ही कुछ समय पहले एक कार्यक्रम में मुझे उत्तर प्रदेश को 9 नए मेडिकल कॉलेज अर्पण करने का मौका भी मिला है। इससे पूर्वांचल और पूरे UP के करोड़ों गरीबों, दलितों, पिछड़ों शोषितों, वंचितों जैसे समाज के सब वर्गों को बहुत फायदा होगा।

इससे पहले सिद्धार्थनगर में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 9 मेडिकल कॉलेजों के उद्घाटन के साथ ही पूर्वांचल को नया उपहार मिला है। पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों ने पूर्वांचल के विकास पर ध्यान नहीं दिया। पहले पूर्वांचल का छवि पिछड़े हुए इलाके में होती है। प्रधानमंत्री मोदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि योगीजी कम उम्र में ही सांसद बन गए थे और लगातार पूर्वांचल के विकास के लिए कार्य कर रहे हैं। दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों के लिए योगीजी बीते कई सालों से काम कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य मिशन के जरिए देश में कई विकास कार्य हो रहे हैं।

5200 करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का उद्घाटन

प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के लिए 5200 करोड़ रुपए से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री आत्मानिर्भर स्वस्थ भारत योजना (PMASBY ) पूरे भारत में स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए देश की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक होगी।

जानिए PMASBY योजना की खासियत

PMASBY योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अतिरिक्त होगी। PMASBY का उद्देश्य शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में सार्वजनिक स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे, विशेष रूप से महत्वपूर्ण देखभाल सुविधाओं और प्राथमिक देखभाल में अंतराल को पाटना है। PMASBY योजना 10 विशेष रूप से पहचाने गए राज्यों में 17,788 ग्रामीण स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों को सपोर्ट देगी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास पर जोर देगी। इसके लिए सभी राज्यों में 11,024 शहरी स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र स्थापित किए जाएंगे। पांच लाख से अधिक आबादी वाले देश के सभी जिलों में एक्सक्लूसिव क्रिटिकल केयर अस्पताल ब्लॉक के माध्यम से गहन देखभाल सेवाएं उपलब्ध होंगी, जबकि शेष जिलों को रेफरल सेवाओं के माध्यम से कवर किया जाएगा।

PMASBY के तहत विकसित की जाएगी आधारभूप स्वास्थ्य सुविधाएं

PMASBY योजना के तहत सभी जिलों में एकीकृत जन स्वास्थ्य प्रयोगशालाएं स्थापित की जाएंगी। PMASBY के तहत देश के विभिन्न क्षेत्रों में नेशनल इंस्टीट्यूशन ऑफ वन हेल्थ, 4 नए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, WHO दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए एक क्षेत्रीय अनुसंधान मंच, 9 जैव सुरक्षा स्तर III प्रयोगशालाएं और पांच नए राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र स्थापित किए जाएंगे।

Posted By: Sandeep Chourey