HamburgerMenuButton

Southwest Monsoon 2021: इस साल अच्छी बारिश का अनुमान, जून से शुरू हो जाएगी झमाझम

Updated: | Wed, 14 Apr 2021 08:31 AM (IST)

Southwest Monsoon 2021: आगामी मानसून के झमाझम बरसने की उम्मीद है। देश के 75 फीसद हिस्से में जून से लेकर सितंबर के बीच मानसून की अच्छी बारिश का अनुमान है। मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली कंपनी स्काईमेट का कहना है कि आगामी दक्षिण-पश्चिम मानसून की बारिश सामान्य से अधिक होगी। स्काईमेट ने मंगलवार को यह जानकारी एक प्रेस कांफ्रेंस में दी। पूर्वानुमान के मुताबिक जून से सितंबर के बीच सक्रिय रहने वाले मानसून सीजन में कुल 103 फीसद बारिश होगी। लेकिन उत्तरी क्षेत्र के मैदानी भागों और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में पूरे सीजन में कम बारिश होने की आशंका है। स्काईमेट के मुताबिक, आंतरिक कर्नाटक, गुजरात व महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में थोड़ी कम बारिश हो सकती है। दूसरी तरफ पूर्वी राज्यों-बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में औसत से अधिक बरसात होने की संभावना है।

पूर्वानुमान के मुताबिक, जून से सितंबर के बीच 103 फीसद यानी 167 मिमी बारिश होगी। इस दौरान 60 फीसद सामान्य बारिश की संभावना है, जबकि 15 फीसद सामान्य से अधिक, 10 फीसद अत्यधिक और 15 फीसद कम बारिश की संभावना है।

देश के पश्चिमी छोर में औसत से कम बारिश का पूर्वानुमान लगाया गया है। हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जुलाई व अगस्त में भले ही कुछ कम बारिश हो, लेकिन सितंबर में लौटता हुआ मानसून अत्यधिक बारिश कर सकता है। मानसून की विदायी देर से होने का अनुमान है।

किस महीने में कितनी बारिश

जून में सामान्य 167 मिमी के मुकाबले 177 मिली पानी बरसेगा।

जुलाई में 285 मिमी के मुकाबले 277 मिमी बारिश होने का अऩुमान है।

अगस्त में होने वाली सामान्य बारिश 258 के मुकाबले 256 मिली होगी।

सितंबर में सामान्य 170 मिमी बारिश के मुकाबले 197 मिमी बारिश होगी।

किसे कहते हैं ला नीना और अल नीनो

अल नीनो और ला नीना का संदर्भ प्रशांत महासागर की समुद्री सतह के तापमान में समय-समय पर होने वाले बदलावों से है, जिसका दुनियाभर में मौसम पर प्रभाव पड़ता है। अल नीनो की वजह से तापमान गर्म होता है और ला नीना के कारण ठंडा। दोनों आमतौर पर 9-12 महीने तक रहते हैं, लेकिन असाधारण मामलों में कई वर्षों तक रह सकते हैं।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.