Omicron Variant के ये हैं प्रमुख लक्षण, डेल्टा वेरिएंट से है बिल्कुल अलग, रहें अलर्ट

Updated: | Fri, 03 Dec 2021 09:40 AM (IST)

Omicron variant भारत में दस्तक दे चुका है और कोरोना वायरस के इस नए वेरिएंट के फिलहाल दो केस कर्नाटक में सामने आए हैं। हालांकि Omicron variant को लेकर अभी भी वैज्ञानिकों के पास ज्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन शुरुआती डाटा के आधार पर वैज्ञानिकों के मानना है कि Omicron variant कोरोना वायरस के पिछले डेल्टा वेरिएंट से काफी ज्यादा संक्रामक है और इसके कुछ लक्षण भी डेल्टा वेरिएंट से अलग है।

सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में मिला था Omicron Variant

कोविड-19 महामारी के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के लक्षण व अन्य विशेषताओं के बारे में अभी बहुत कुछ स्थिति साफ होना बाकी है, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के एक डॉक्टर ने Omicron Variant के लक्षण और वैक्सीन के असर को लेकर विस्तार से जानकारी शेयर की है। दरअसल साउथ अफ्रीकन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ एंजेलिक कोएट्ज़ी ने ही सबसे पहले Omicron Variant को लेकर आशंका जताई थी। डॉ एंजेलिक कोएट्ज़ी के बताए जाने के बाद से अभी तक Omicron Variant कई देशों में पैर पसार चुका है।

Omicron Variant के ये हैं प्रमुख लक्षण

Omicron Variant के शुरुआती लक्षणों को लेकर डॉक्टर एंजेलिक कोएट्ज़ी का कहना है इस लक्षण डेल्टा वेरिएंट से काफी अलग हो सकते हैं। Omicron Variant से ग्रसित कोरोना मरीज में थकान, बदन दर्द और सिर दर्द जैसे लक्षण ज्यादा देखे गए हैं। साथ ही कुछ मरीजों में शारीरिक कमजोरी भी बहुत ज्यादा महसूस की गई है। उन्होंने कहा कि अभी तक किसी भी मरीज ने सूंघने या स्वाद में कमी या तेज बुखार की सूचना नहीं दी है।

Omicron Variant पर कोरोना वैक्सीन का असर

ओमिक्रोन वेरिएंट पर कोरोना वैक्सीन कारगर है या नहीं, इसको लेकर डॉक्टर एंजेलिक कोएट्ज़ी ने कहा कि अब तक ऐसा लगता है कि कोरोना वैक्सीन का असर ओमिक्रॉन वेरिएंट पर पड़ेगा, क्योंकि जिन लोगों को टीका लगाया गया है उनमें इस वेरिएंट के काफी हल्के लक्षण देखे गए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल स्तर पर ओमिक्रोन वेरिएंट डेल्टा वेरिएंट की तुलना में हल्का है, लेकिन यह तस्वीर अस्पताल स्तर पर बदल सकती है। अभी तक वेरिएंट शुरुआती दिनों में हैं और बहुत से लोगों को अस्पतालों में भर्ती नहीं किया गया है।

ओमिक्रॉन वेरिएंट से ऐसे बचें

ओमिक्रॉन वेरिएंट से बचने के लिए भी सरकार द्वारा वही सुझाव दिए गए हैं, जो डेल्टा वेरिएंट के कारण दिए गए थे। लोगों को गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना चाहिए। मास्क लगाना चाहिए। दो गज की दूरी का पालन करें और बार-बार साबुन से अपने हाथ धोते रहना चाहिए। ज्यादा भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने से बचना चाहिए।

Posted By: Sandeep Chourey