HamburgerMenuButton

गृह मंत्री अमित शाह बोले, किसान खत्म करें आंदोलन, सरकार मांगों पर विचार करने को तैयार

Updated: | Sat, 28 Nov 2020 09:46 PM (IST)

नई दिल्‍ली Amit Shah on Farmers protest। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील की है। शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पंजाब की सीमा से लेकर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर रोड पर अलग-अलग किसान यूनियन से अपील की है कि केंद्र सरकार सभी किसान संगठनों से चर्चा के लिए तैयार है। अमित शाह ने कहा कि 3 दिसंबर को किसानों से चर्चा के लिए कृषि मंत्री की ओर से निमंत्रण पत्र भेजा गया है। केंद्र सरकार किसानों की हर समस्या और हर मांग पर विचार करने के लिए तैयार है।

अमित शाह बोले, ठंड में आंदोलन कर रहे किसान भाई

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि किसान भाई नेशनल और स्टेट हाइवे पर अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली के साथ भारी ठंड में खुले में बैठे हैं। अमित शाह ने कहा कि मैं सभी किसानों से अपील करता हूं कि दिल्ली पुलिस आपको एक बड़े मैदान में शिफ्ट करने के लिए तैयार है, वहां किसानों को सुरक्षा व अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएगी। यदि आप रोड की जगह निश्चित किए गए स्थान पर अपना धरणा-प्रदर्शन शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से करते हैं तो भी परेशानी कम होगी और आम जनता को भी आवागमन में परेशानी नहीं होगी।

3 दिसंबर से पहले करें बात

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि यदि किसान चाहते हैं कि भारत सरकार जल्द बात करे और 3 दिसंबर से पहले बात करे तो मैं आपको भरोसा देता हूं कि जैसे ही आप निर्धारित स्थान पर शिफ्ट होंगे, उसके दूसरे ही दिन सरकार आपकी समस्याओं और मांगों पर बातचीत के लिए तैयार है। वहीं केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि सरकार किसानों की समस्याओं के लिए किसान यूनियन से बात करने के लिए पूरी तरह तैयार है। मोदी सरकार ने किसानों को 3 दिसंबर को बातचीत के लिए आमंत्रित किया है।

तोमर ने कहा कि उम्‍मीद है कि बातचीत के जरिए किसानों की समस्या का हल निकाल लिया जाएगा। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मैं राजनीतिक दल के लोगों से गुजारिश करता हूं कि उन्‍हें यदि राजनीति करनी है तो अपने नाम पर राजनीति करें लेकिन किसानों के नाम पर सियासत नहीं होनी चाहिए। गौरतलब है कि एनसीपी के शरद पवार, द्रमुक के टीआर बालू और सीपीआई-एम के सीताराम येचुरी समेत 8 विपक्षी दलों के नेताओं ने किसानों के पक्ष में बोलकर सियासत शुरू कर दी है।

Posted By: Sandeep Chourey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.