HamburgerMenuButton

Aaj Ka Rashifal 25 Feb 2021: आत्मविश्वास में वृद्धि होगी, रुका हुआ कार्य संपन्न होगा

Updated: | Thu, 25 Feb 2021 07:22 AM (IST)

मेषः शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र मे चल रहा प्रयास फलीभूत होगा। सामाजिक एवं धार्मिक कायोर् में रुचि लेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

वृषः पारिवारिक महिला से तनाव मिल सकता है। वाणी पर संयम बनाए रखें। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में आशातीत सफलता मिलेगी।

मिथुनः व्यावसायिक प्रयास फलीभूत होगा। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा। रिश्तों में मजबूती आएगी। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। रचनात्मक कार्यों में सफलता मिलेगी।

कर्कः आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी। उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। रचनात्मक कायोर् में सफलता मिलेगी, लेकिन स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें।

सिंहः आत्मविश्र्वास में वृद्धि होगी। रुका हुआ कार्य संपन्न होगा। जीविका के क्षेत्र में चल रहा प्रयास फलीभूत होगा। शिक्षा के क्षेत्र में किया गया प्रयास फलीभूत होगा।

कन्याः शासन सत्ता का सहयोग रहेगा। व्यावसायिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। धन, यश, कीर्ति में वृद्धि होगी, लेकिन व्यय अधिक होने से मन अशांत होगा। ईश्वर की आराधना करें।

तुलाः जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी। शासन सत्ता का सहयोग रहेगा। व्यावसायिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। धन, सम्मान, यश, कीर्ति में वृद्धि होगी। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा।

वृ￝ािकः उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। महिला अधिकारी का सहयोग मिलेगा। व्यावसायिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। रचनात्मक कार्यों में सफलता मिलेगी।

धनुः भाग्यवश सुखदसमाचार मिलेगा। धर्म गुरु या पिता का प्रोत्साहन मिलेगा। सामाजिक कायोर् में रुचि लेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

मकरः जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी। शासन सत्ता का सहयोग रहेगा। रिश्तों में मजबूती आएगी। पारिवारिक दायित्व की पूर्ति होगी। धन, सम्मान, यश, कीर्ति में वृद्धि होगी।

कुंभः उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। रुका हुआ कार्य संपन्न होने से आत्मविश्र्वास में वृद्धि होगी। व्यावसायिक मामलों में सफलता मिलेगी।

मीनः संतान या शिक्षा के कारण चिंतित रहेंगे। रचनात्मक कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। कोई ऐसा कार्य होगा जिससे आपकी प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.