बुध और गुरु ग्रह अप्रैल के पहले सप्ताह कर रहे राशि परिवर्तन, मेष-मिथुन सहित इन राशियों को होगा लाभ

Updated: | Thu, 01 Apr 2021 12:02 AM (IST)

अप्रैल महीने की शुरुआत में ग्रहों की चाल में परिवर्तन हो रहा है। महीने के पहले दिन बुध राशि परिवर्तन कर करेंगे। वे अभी कुंभ राशि में हैं, 1 अप्रैल से मीन राशि में गोचर करेंगे। बुध 16 अप्रैल तक मीन राशि में रहेंगे। इसके बाद मेष राषि में प्रवेश करेंगे। जबकि 6 अप्रैल को गुरू अपना राशि परिवर्तन कर रहे हैं। वे फिलहाल मकर राशि में हैं। 6 अप्रैल को कुंभ राशि में प्रवेश कर 14 सिंतबर तक रहेंगे। दोनों गृहों के राशि परिवर्तन से जातकों के जीवन में प्रभाव पड़ेगा। इसका सबसे ज्यादा लाभ मेष, वृषभ, मिथुन राशिवालों को होगा। आइए जानते हैं राशियों के लिए कितना शुभ रहेगा।

बुध राशि परिवर्तन

1. वृषभ राशि- बुध के राशि परिवर्तन से वृषभ जातकों को लाभ होगा। कार्य क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण कामों की जिम्मेदारी मिलेगी। जिससे कद और मान-सम्मान में वृद्धि होगी। नय इनकम के स्त्रोत बनेंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को शुभ समाचार मिलेगा। परिवार में संबंध सुधरेंगे।

2. मिथुन राशि- बुध का राशि परिवर्तन मिलाजुला रहेगा। परिवार के साथ बेहतर समय दे पाएंगे। कहीं यात्रा पर जा सकते हैं। सेहत का विशेष तौर पर ध्यान रखना होगा। कोई भी निर्णय अपने पर विश्वास करते हुए लेना होगा।

3. कन्या राशि- इन राशिवालों के गोचर उत्तम फल लेकर आएगा। पदोन्नति और वेतन वृद्धि की संभावना हो सकती है। व्यापारियों को दोगुना मुनाफा हो सकता है।

गुरु राशि परिवर्तन

1. मेष राशि- गुरु का परिवर्तन मेष राशि वालों के लिए लाभ लेकर आएगा। शुभ समाचार मिलने की उम्मीद है। घर में धार्मिक आयोजन होने की संभावना है। धन के नए साधन लेंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के पक्ष में परिणाम आएगा।

2. वृषभ राशि- देव गुरु के परिवर्तन से वृषभ राशिवालों के तमाम रुके काम बनेंगे। धन लाभ होगा। कोई पुराना विवाद भी सुलझ सकता है। मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नौकरी पेशा को प्रमोशन मिलने की संभावना है।

3. मिथुन राशि- इन राशि के जातकों को गुरु का गोचर फलदायक होने वाला है। विवाह के योग बन रहे हैं। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। रूके हुए काम पूरे होंगे।

राहु की दशा को लेकर ये होते हैं जीवन में परिणाम

मित्रों जिनके कुंडली में राहु चतुर्थ भाव षष्टम भाव अष्टम भाव दशम भाव और द्वादश भाव मैं राहु होता है ऐसे जातकों के लिए मैं आज उपाय बताने जा रहा हूं। एक ही बार उपाय करना है फिर आप अपनी जिंदगी आराम से बैठ कर खा सकते हो। राहु आपको कभी परेशान नहीं करेगा। हालांकि बहुत छप्पर फाड़ दे देगा। यह मेरा उपाय आप करके देखिए इसका परिणाम आपको 1 महीने के अंदर ही नजर आएगा लेकिन यह उपाय आपको अच्छी तरह से करने आना चाहिए। मैंने जो बोला है ऊपर की राहों आपके अगर इन भावों में हैं तो आप बाकी कितना भी उपाय कर लिए बाकी किसी भी ग्रह के उपाय कर लिए आपको सफलता नहीं मिलेगी। यह आप निश्चित रूप से पकड़ कर चलिए। यह राहु के भाव एक दूसरे से कनेक्टेड है। एक दूसरे से दृष्टि से है इसलिए इन सभी जातकों को जिंदगी में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। ऐसे जातकों की नौकरी व्यवसाय कभी स्थिर नहीं होता है ना ऐसे जातकों के वैवाहिक जीवन में सुख आता है यह जातक हमेशा अकेला खुद को महसूस करते हैं और इन यह जातक जो है आप कितना भी दूसरों के लिए एहसान कीजिए आपको आखिर में कुछ नहीं मिलेगा, इसलिए जिनके कुंडली में इन भाव में राहु है उनके लिए मैं आज एक ऐसा उपाय बताने जा रहा हूं कि जिससे आप सभी लोग खुश हो जाएंगे। फिर आप देखिए यह उपाय करने के बाद आपको कितना अच्छा सुख मिलता है आपकी जिंदगी बहुत अच्छी हो जाएगी। राहु आपको निश्चित तौर पर छप्पर फाड़ के देगा।

ये हैं कुछ कारगर उपाय

आपको आपके घर में घर के अंदर का आखिरी हिस्से वाला एक कमरा खाली कमरा चाहिए जिसके अंदर कोई सामान ना हो वह कमरे के अंदर लोहे का सामान लकड़ी का सामान या कोई फूल पौधा का सामान या कपड़े कोई नहीं रखना चाहिए इस कमरे को पूरी तरह से आप सफाई करके लीजिए और इस कमरे की लाइट पूरी तरह से निकाल दीजिए इस कमरे की खिड़कियां आप इस तरह से बंद कीजिए कि जहां से रोशनी नहीं आए जरा सा भी सूर्य की रोशनी अंदर नहीं आनी चाहिए और दूसरी बात यह है कि उस कमरे में हमेशा के लिए अंधेरा होना चाहिए और अंधेरे के कमरे में आपको अपनी खुद की अच्छी सी एक फोटो निकालकर लगानी है और अगर आप वैवाहिक है या आपकी शादीशुदा जिंदगी है तो आप पति-पत्नी की फोटो लगाइए राहु यंत्र के साथ राहु यंत्र अभिमंत्रित किया हुआ होना चाहिए और वो यंत्र अच्छे से स्थापित कीजिए और उस कमरे में रोज सिर्फ सफाई कीजिए बाकी कुछ मत करिए बस यह उपाय आप करने के बाद आपको 1 महीने के अंदर अंदर आपको इतना फर्क महसूस होगा जिंदगी में कि आप फिर जिंदगी खुश रहेगी। जिनके कुंडली में राहु 4 6 8 10 12 भावों में कुंडली में विराजमान है ऐसे जातक इस उपाय के सिवाय इनको कोई भी चारा नहीं है आप कितने भी पूजा पाठ कीजिए कितने भी उपाय कीजिए उनसे भी ग्रह के उपाय कीजिए आपको सफलता नहीं मिलेगी। लेकिन यह उपाय आपका इतना बड़ा कारगर साबित हो जाएगा कि राहु आपको छप्पर फाड़ के देगा।

(हस्तरेखा तज्ञ विनोद जी)

Posted By: Navodit Saktawat