HamburgerMenuButton

Magh Purinma 2021: माघ पूर्णिमा की उदया तारीख कल, आज शाम को चंद्रमा को अर्घ्य देकर खुलेगा व्रत

Updated: | Fri, 26 Feb 2021 02:22 PM (IST)

Magh Purinma 2021: हिंदू धर्म में माघ पूर्णिमा (Magh Purima) का काफी महत्व है। माघ मास की पूर्णिमा तिथि आज (शुक्रवार) सुबह 5 बजकर 49 मिनट से शुरू हो गई है। बता दें उदया तिथि में होने के कारण इसका व्रत आज ही रखा जाएगा। पूर्णिमा का व्रत रखने वाले जातक भगवान सत्यनारायण की पूजा अर्चना करेंगे। पूर्णिमा की उदया तारीख कल यानी 27 फरवरी को है, लेकिन जातक आज उपवास रखेंगे और शाम को चंद्रमा देव को अर्घ्य देकर व्रत खोलेंगे। हिंदू मान्यता के अनुसार इस दिन गंगा स्नान, दीप दान, तुलसी पूजा करना शुभ होता है। वहीं इस वर्ष पूर्णिमा पर उपछाया चंद्रग्रहण होने के कारण महायोग सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। श्रीसत्यनारायण व्रत का वर्णन देवर्षि नारज के कहने पर विष्णु ने अपने मुख से किया है। आइए जानते हैं माघ पूर्णिमा का महत्व व पूजा विधि।

माघ पूर्णिमा व्रत और पूजा विधि: सत्यनारायण भगवान की पूजा करने से विष्णु जी का विशेष आशीर्वाद मिलता है। स्कंद पुराण में इसका उल्लेख किया गया है। इस पूजा में केला पत्ता, पंचामृत, सुपारी, पान, शहद, मिठाई, तिल, मौलि, कुमकुम और दूर्वा का उपयोग करना चाहिए। माना गया है कि भगवान विष्णु जी की पूजा करने से सौभाग्य मिलता है व जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है। वहीं व्रत करने वालों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। जबकि ब्राह्मण को भोजन कराने से अनेक प्रकार के लाभ होते हैं।

माघ पूर्णिमा का महत्व: माघ पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान करना चाहिए। इससे जातकों के सभी पाप दूर हो जाते हैं। मान्यता है कि देवता पृथ्वी पर आकर मनुष्य रूप में स्नान, दान व जप करते हैं। इस दिन गंगा स्नान से सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। वहीं हिंदू मान्यता के अनुसार इस दिन पूजा करने से घर की आर्थिक स्थिति सुधरती है। वहीं किसी ग्रह प्रभाव से मुक्ति मिलती है। जबकि सिद्धि व आध्यात्मिक विकास सुरक्षित रहता है।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.