HamburgerMenuButton

World Test Championship: फाइनल हारने के बाद कप्तान विराट कोहली ने बताई हार की वजहें, बारिश बनी सबसे बड़ी विलेन

Updated: | Thu, 24 Jun 2021 09:42 AM (IST)

इंग्लैंड में खेले गए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच में बारत को करारी हार का सामना करना पड़ा है। इस मैच में छठे दिन के आखिरी सत्र तक भारत के जीतने की उम्मीदें कायम थी। भारतीय टीम बल्लेबाजी में धैर्य दिखाती तो यह मैच ड्रॉ भी हो सकता था, लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने एक के बाद एक कई गलतियां की और उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया है कि भारत यह मैच कैसे हार गया।

इस मैच में भारत की दूसरी पारी170 रन पर सिमट गई थी। पहली पारी में बढ़त के कारण न्यूजीलैंड को सिर्फ 139 रन का लक्ष्य मिला, जिसे कीवी टीम ने सिर्फ एक विकेट गंवाकर हांसिल कर लिया। कप्तान केन विलियमसन (नाबाद 52) और रोस टेलर (नाबाद 47) ने 96 रन की नाबाद साझेदारी करके न्यूजीलैंड को टेस्ट चैंपियनशिप का पहला चैंपियन बना दिया।

विराट बोले बारिश की वजह से हारे

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड को जीत का हकदार बताते हुए कहा कि बारिश के व्यवधान के कारण उनकी टीम की लय गड़बड़ाई और इसी वजह से भारतीय टीम यह मैच हार गई। उन्होंने कहा, "पहला दिन बारिश से धुल गया, और जब खेल फिर से शुरू हुआ तो लय हासिल करना मुश्किल था। हमने केवल तीन विकेट गंवाए, लेकिन यदि खेल बिना रुकावट के चलता रहता तो हम और रन बना सकते थे।"

बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में ज्यादा निराश किया

कोहली ने कहा कि यदि उनकी टीम ने दूसरी पारी में 30 से 40 रन अधिक बनाए होते तो परिणाम अलग हो सकता था। कोहली ने कहा, "केन और न्यूजीलैंड की पूरी टीम को बधाई। उन्होंने गजब का जज्बा दिखाया और तीन दिन से थोड़े अधिक समय में परिणाम हासिल किया। उन्होंने हमें दबाव में रखा। वे जीत के हकदार थे। न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने अपनी रणनीति पर अच्छी तरह से अमल किया। हमने 30 से 40 रन कम बनाए।

न्यूजीलैंड की टीम बनी चैंपियन

भारतीय खिलाड़ियों ने जहां इस मैच की पहली पारी में न्यूजीलैंड के सामने कड़ी चुनौती पेश की थी। डॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे भारत के लिए रन बनाना आसान नहीं था। न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों की लहराती गेंदों के सामने भारतीय बल्लेबाजों ने धैर्य के साथ बल्लेबाजी की और 217 रन बनाए। यह स्कोर बहुत बड़ा नहीं था, लेकिन पिच के मद्देनजर काफी बेहतर था। गेंदबाजी में भी भारत ने न्यूजीलैंड को 249 रन पर रोक लिया। इसके बाद भारतीय खिलाड़ियों ने निराश किया। तीसरी पारी में पिच भी बल्लेबाजी के लिए बेहतर हो चुकी थी, पर कोई भी बल्लेबाज ज्यादा रन नहीं बना पाया। सभी बल्लेबाजों ने शुरुआत तो की लेकिन अंत में अपने विकेट फेंककर आउट हो गए। भारत की पारी 170 रन पर सिमट गई। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने सिर्फ 2 विकेट निकाले और दोनों विकेट अश्विन के नाम रहे। इंग्लैंड की पिच में भारतीय तेज गेंदबाज दूसरी पारी में एक भी विकेट नहीं ले सके। इसी के साथ न्यूजीलैंड यह मैच 8 विकेट से जीत गया।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.