HamburgerMenuButton

CoWin App: जानिए आम जनता के लिए कब लॉन्च होगा को-विन एप, कैसे करें कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन

Updated: | Mon, 18 Jan 2021 07:26 AM (IST)

CoWin App: देश में 16 जनवरी को कोविड-19 टीकाकरण (Covid-19 vaccination) अभियान शुरू होगा। इसके पहले चरण में स्वास्थ्य सेवा कर्मियों का टीकाकरण होगा। कोविड-19 वैक्सीन की निगरानी के लिए सरकार ने को-विन एप (CoWin App) एप बनाया है। इस एप्लिकेशन का प्रभावी रूप से केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा इनोक्यूलेशन ड्राइव लागू करने के लिए उपयोग किया जाएगा। एक अधिकारी ने बताया कि को-विन एप की शुरुआती पहुंच स्वास्थ्य सेवा के कर्मचारियों तक सीमित थी,ताकि वे टीकाकरण के बारे में डेटाबेस उपलब्ध करा सकें। आम नागरिक का भी रजिस्ट्रेशन को-विन पर करना होगा। यह एक ऑनलाइन वेबसाइट के साथ मोबाइल एप के रूप में जनता के लिए उपलब्ध होगा। यह एप मार्च के अंत में स्वास्थ्य मंत्रालय लॉन्च करेगा।

इससे पहले केंद्र सरकार ने बताया था कि कोविड-19 वैक्सीन के लिए ट्रैकिंग और पंजीकरण को सुनिश्चित करने के लिए को-विन एप पांच के मॉड्यूल है। जिसमें प्रशासक, पंजीकरण, टीकाकरण, लाभार्थी और रिपोर्ट मॉड्यूल शामिल है। मोबाइल एप भी इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क से अपडेट है। यह गूगल प्ले स्टोर और एपल प्ले स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकेगा। यह एप जियो फोन पर भी चलेगा। वहीं जो नागरिक स्वास्थ्य वर्कर नहीं है, वे वैक्सीन के लिए एप आने के बाद पंजीकरण कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए एक फोटो पहचान की आवश्यकता होगी।

वहीं एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की गई। जिसने एक रिपोर्ट बनाई है कि अगले चरण में किसे-किसे कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। इसकी रिपोर्ट नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल को दे दी गई है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि गर्भवती महिलाओं और 12 साल से कम उम्र के बच्चों को टीका नहीं लगाया जाएगा। वहीं जो लोग किसी बीमार है उन्हें ठीक होने के बाद ही वैक्सीन लगाई जाएगी।

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 जनवरी को दुनिया के सबसे बड़े कोविड-19 टीकाकरण अभियान का एक वीडियो लिंक के माध्यम से शुभारंभ करेंगे। वैक्सीन से जुड़े सवालों के लिए 24 घंटे 7 दिन के लिए एक कॉल सेंटर बनाया गया है। उद्घाटन के दिन बनाए गए साइट में करीब 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। को-विन एप टीकारण मॉड्यूल लाभार्थी के विवरण को सत्यापित और टीकाकरण की स्थिति को अपडेट करेगा। साथ ही रिपोर्ट भी तैयार करेगा कि कितने वैक्सीन सत्र आयोजित किए गए, उनमें कितने लोगों ने भाग लिया। इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने स्पष्ट किया कि टीका फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए मुफ्त होगा।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.