HamburgerMenuButton

Google Chrome में आया बड़ा अपडेट, अब बदल जाएगा आपके इंटरनेट ब्राउजिंग का तरीका

Updated: | Fri, 16 Apr 2021 11:25 AM (IST)

Google Chrome: mदुनिया के सबसे लोकप्रिय इंटरनेट ब्राउजर गूगल क्रोम में बड़ा अपडेट आ रहा है। नए अपडेट के आने के बाद आपका इंटरनेट ब्राउजिंग का तरीका भी पूरी तरह से बदल जाएगा। गूगल क्रोम का वर्जन 90 जल्द ही आने वाला है। इसके जरिए गूगल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग को बेहतर करने की कोशिश कर रहा है। इसके अलावा कम डेटा खपत और पीडीएफ XFA फॉर्म्स को बेहतर सपोर्ट के साथ ज्यादा प्राइवेसी देने की कोशिश भी की ज रही है। गूगल ने Floc के जरिए यूजर्स को ट्रैक करने और उन्हें विज्ञापन दिखाने का नयी तरीका निकाला है, पर अबी तक इसकी टेस्टिंग पूरी नहीं हुई है और यह फीर्चर सभी जगहों पर लॉन्च भी नहीं किया गया है। आप बी देखिए कि क्रोम 90 कैसे आपके इंटरनेट ब्राइजिंग के अनुभव को बदल देगा।

वीडियो मीटिंग की क्वालिटी बेहतर होगी, डेटा भी कम लगेगा

मौजूदा समय में वीडियो मीटिंग हमारे जीवन का जरूरी हिस्सा बन चुकी हैं और गूगल इन्हें और बेहतर बनाने के लिए प्रयास कर रहा है। नए कोड के साथ आ रहा क्रोम 90 बेहतर तरीके से डाटा कम्प्रेस करता है। इससे हमें वीडियो मीटिंग में अच्छी क्वालिटी मिलेगी और डाटा भी कम खर्च होगा। हम कम बैंडविड्थ में बेहतर वीडियो क्वालिटी की उम्मीद करते हैं। नए अपडेट में अगर आप फोन के हॉटस्पॉट में भी लैपटॉप में वीडियो कॉल कर रहे हैं तो आपको परेशानी नहीं होगी। इसके अलावा AV इनकोडर आपका स्क्रीन शेयरिंग का अनुभव और बेहतर करेगा।

HTTPS के जरिए प्राइवेसी और लोडिंग स्पीड बेहतर करने की कोशिश

HTTPS प्रोटोकॉल सुरक्षित होने के साथ ज्यादा बेहतर और सुविधानक भी है। इस वजह से आप क्रोम 90 में जो भी वेबसाइट खोलेंगे, गूगल अपने आप उसका HTTPS वर्जन आपके सामने रखेगा। अगर आप पहली बार वह वेबसाइट खोल रहे हैं तो गूगल उसका HTTPS वर्जन खुद बनाकर देगा। पहले गूगल HTTP वर्जन को सपोर्ट करता था, जो कि कम सुरक्षित था। इसके बाद HTTPS वर्जन की मांग की जाती थी। इससे वेबसाइट की लोडिंग बेहतर होगी और कम सुरक्षित HTTP वेबसाइट से लोगों को छुटकारा मिलेगा।

गेमिंग का बेहतर अनुभव

क्रोम 90 में नया WEBXR डेप्थ सेंसिंग API है, जो बेहतर तरीके से यह पता लगाता है कि आप जिस डिवाइस में क्रोम चला रहे हैं उससे कितने दूर है। इससे आपको गेमिंग और एआर का बेहतर एक्सपीरियंस मिलेगा। उदाहरण के लिए यदि आप क्रोम में जानवर सर्च करते हैं तो आपको जानवरों की थ्रीडी इमेज मिलेगी। आने वाले समय में इसका और बेहतर अनुभव मिलेगा।

स्लो इंडरनेट में भी जल्दी लोड होंगे वीडियो

क्रोम 90 में नया लाइट मोड लाया गया है, जो वीडियो का बिट रेट कम कर देता है। इस वजह से धीमे इंटरनेट में भी आप आसानी से वीडियो देख पाएंगे।

फाइल अपलोड करने की बजाय उन्हें कॉपी-पेस्ट कर सकेंगे

क्रोम 90 में आपको फाइलें अपलोड या डाउनलोड करने की बजाय सीधे कॉपी पेस्ट करने की सुविधा मिलेगी। इससे आपका समय बचेगा। साथ ही जब आप पेस्ट करने के लिए Clt+V बटन दबाएंगे तभी वेबसाइट को आपके क्लिपबोर्ड तक पहुंचने की अनुमति मिलेगी। इससे आपकी प्राइवेसी और बेहतर होगी।

फिशिंग वेबसाइट से बचाने के लिए सिर्प मेन URL दिखेगा

कई फिशिंग वेबसाइट यूजर्स को धोखा देने के लिए दूसरी वेबसाइट से मिलता-जुलता URL बना लेती हैं। इससे यूजर्स को पता नहीं चलता कि असली वेबसाइट कौन सी है। अब क्रोम 90 में वेबसाइट का पूरा URL दिखने की बजाय सिर्फ मूल डोमेन दिखेगा। इस वजह से आप आसानी से असली और फिशिंग वेबसाइट को पहचान पाएंगे। जरूरत पड़ने पर आप इस फीचर को बंद भी कर सकते हैं।

नोटिफिकेशन और प्रॉम्प्ट्स भी ब्लॉक होंगे

अब आपके फोन पर हर समय नोटिफिकेशन आर प्रॉम्पट्स नहीं दिखेंगे। आपने अक्सर ऐसे नोटिफिकेशन देखे होंगे, जिनमें 'हमारी वेबसाइट को सब्स्क्राइब करें या इससे मिलती जुलती बातें कही जाती हैं और आप इन्हें बार-बार कैंसिल कर के परेशान होते हैं।' इसकी बजाय Address के अंत में एक बेल आइकॉन बना होगा। इसे क्लिक करने पर आपको उस वेबसाइट के नोटिफिकेशन मिलने लगेंगे।

क्रोम 90 में नए FLOC की टेस्टिंग

नए FLOC की टेस्टिंग पूरी होने के बाद आपसे किसी वेबसाइट की कुकिज सेव करने या शेयर करने का झंझट खत्म हो जाएगा। इसके जरिए गूगल आसानी आपकी रुचि के हिसाब से आपको एड दिखा पाएगा। इसके साथ ही आपकी प्राइवेसी भी सुरक्षित रहेगी। गूगल एक तरह की पसंद वाले कम से कम एक हजार लोगों का एक ग्रुप बनाएगा और एड कंपनियां उस हिसाब से एड दिखा सकेंगी।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.