HamburgerMenuButton

IFCN: इंटरनेशनल फैक्ट चैकिंग नेटवर्क नोबेल पुरस्कार के लिए नॉमिनेट, डायरेक्टर ने कहा - यह सच्चाई का महत्व बताती है

Updated: | Fri, 22 Jan 2021 11:48 AM (IST)

नॉर्व की सांसद त्रिने स्की ग्रांडे (Trine Skei Grande) ने एक बड़ा निर्णय लिया है। उन्होंने फैक्ट चेकर्स कम्युनिटी को नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) के लिए नॉमिनेट किया है। ग्रांडे ने इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क को शांति के नोबेल अवार्ड के लिए नॉमिनेट किया है। इसकी जानकारी उन्होंने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से दी। उन्होंने लिखा, हम ऐसे समय में रह रहे हैं जब झूठ से लड़ना काफी जरूरी है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इसे अपने भाषण में भी कहा था।

सांसद ग्रांडे ने आगे लिखा कि इस साल नोबेल पीस पुरस्कार के लिए इंटरनेशनल फैक्ट चैकिंग नेटवर्क, आईएफसीएन को नॉमिनेट कर रही हूं। उन्हें हमारे सहयोग की खास जरूरत है। बता दें बुधवार को जो बाइडेन ने अमेरिका का राष्ट्रपति पद की शपथ ली। शपथ के बाद अपने भाषण में उन्होंने देश में हुए हिंसा का जिक्र करते हुए कहा था कि जनता और नेताओं की जिम्मेदारी है कि वो सत्य की रक्षा करें। इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क के डायरेक्टर बेबर्स ऑर्सेक (Baybars Orsek) ने ट्वीट कर नोबेल शांति पुरस्कार नॉमिनेशन की जानकारी दी।

उन्होंने पूरे फैक्ट चेकिंग कम्यूनिटी की तरफ से धन्यवाद कहा। ऑर्सेक ने ट्वीट करते हुए कहा कि फैक्ट चेकिंग कम्युनिटी और आईएफसीएन नोबेल शांति पुरस्कार के नामांकन के लिए आभारी है। यह नॉमिनेशन सच्चाई के महत्व के बारे में बताता है। उन्होंने ग्रांडे का शुक्रिया अदा भी किया।

जानें क्या है नोबेल पुरस्कार और कैसे हुई शुरुआत?

नोबेल पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेंड बर्नाडे नोबेल की याद में दिया जाता है। उन्होंने मरने से पहले अपनी संपत्ति का एक हिस्सा ट्रस्ट को दे दिया था। उनकी इच्छा थी कि इस पैसों के ब्याज से हर साल मानव जाति के लिए काम करने वाले लोगो का सम्मान किया जाए। स्वीडिश बैंक में जमा राशि के ब्याज से नोबेल फाउंडेशन हर साल शांति, भौतिकी, साहित्य, रसायन, चिकित्सा और अर्थशास्त्र में योगादन देने वाले को पुरस्कार देती है। नोबेल फाउंडेशन की स्थापना 29 जून 1900 को हुई जबकि 1901 से अवार्ड दिया जाने लगा है। नोबेल फाउंडेशन में 5 लोगों की टीम होती है जिसका प्रमुख स्वीडन के किंग ऑफ काउंसिल द्वारा तय किया जाता है। वहीं चार अन्य ट्रस्ट के सदस्य होते हैं।

नोबेल पुरस्कार के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:

1. पहला शांति पुरस्कार 1901 में रेड क्रॉस के संस्थापक ज्यां हैरी दुनांत और फ्रेंच पीस सोसाइटी के संस्थापक फ्रेडरिक पैसी को संयुक्त रूप से दिया गया था।

2. शांति नोबेल पुरस्कार ओस्लो जबकि बाकी अवार्ड स्टॉकहोम में दिए जाते हैं।

3. किसी एक क्षेत्र में अधिकतम तीन लोगों को पुरस्कार दिया जाता है।

4. अगर एक पुरस्कार दो लोगों को दिया जाता है तो धनराशि दोनों में समान रूप से बांटी जाती है।

5. महात्मा गांधी को पांच बार नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया जा चुका है।

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.