HamburgerMenuButton

Jerusalem Violence: फलस्तीन और इजरायल में खूनी संघर्ष, रॉकेट हमले से गाजा पट्टी में 28 की मौत

Updated: | Wed, 12 May 2021 10:18 AM (IST)

Muslim-Christian violence in Jerusalem, गाजा सिटी। फलस्तीन और इजराइल के बीच एक बार फिर खूनी संघर्ष शुरू हो गया है। यरुशलम की अल अक्सा मस्जिद पर जुमे की नमाज से शुरू हुआ संघर्ष अब इजरायल और फलस्तीनियों के बीच युद्ध में बदलते जा रहा है। दोनों पक्षों की ओर से लगातार रॉकेट दागे जा रहे हैं। इन हमलों में एक भारतीयम महिला की भी मौत हो गई है। इधर गाजा पट्टी इलाके में इजरायल के हमले में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 28 पहुंच गई है। मरने वालों में 10 बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। इजरायली सेना ने दावा किया है कि हमले में कम से कम 16 आतंकी मारे गए हैं।

इजराइल का दावा, हमास ने दागे 200 रॉकेट

इजरायली सेना के प्रवक्ता जोनाथन कोनरिकस ने कहा कि हमास ने करीब 200 रॉकेट दागे हैं। इनमें से एक राकेट इजरायल के शहर अश्कलोन में इमारत पर गिरा, जिसमें केरल की रहने वाली सौम्या संतोष की मौत हो गई। सौम्या संतोष इजराइल में एक 80 वर्षीय महिला की केयर टेकर थी। रॉकेट हमले में 80 वर्ष की इजरायली महिला की भी मौत हो गई।

हमास के रॉकेट हमले में जिस भारतीय महिला सौम्या संतोष की मौत हुई, हमले के वक्त वह अपने पति संतोष से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी। तभी जोर के धमाके के साथ कॉल डिसकनेक्ट हो गया था। संतोष के भाई साजी ने बताया कि तुरंत उन लोगों ने वहां काम करने वाली अन्य महिला से बात की, जिससे उन्हें घटना का पता चला। इडुकी जिले की सौम्या 7 साल से इजरायल में केयरटेकर का काम कर रही थी।

बौखलाए इजराइल ने तेज किए हमले

ताजा टकराव में इजरायल में किसी मौत का यह पहला मामला है। फलस्तीन के रॉकेट हमलों से बौखलाए इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गाजा पट्टी पर हमले और तेज करने का फैसला किया है। गौरतलब है कि यरुशलम में अल अक्सा मस्जिद के निकट इजरायली पुलिस और फलस्तीनियों के बीच संघर्ष में अब तक 700 लोग घायल हुए हैं। 500 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस बीच फलस्तीन के राष्ट्रपति ने इस मामले को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाना शुरू कर दिया है। राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने मुस्लिम और ईसाइयों के बीच हिंसा को रुकवाने की अपील की है। युद्ध जैसी स्थिति के बीच इजरायल सीमा पर सेना की तैनाती बढ़ा रहा है। इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गेंट्ज ने रिजर्व में रहने वाले 5000 सैनिकों की तत्काल तैनाती का आदेश दिया है। इजरायल ने अपनी नेशनलिस्ट फ्लैग परेड के रूट को भी परिवर्तित कर दिया है।

Posted By: Sandeep Chourey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.