HamburgerMenuButton

4 महीने तक खुद भी था अंजान कि लोगों ने मरा मान लिया, जब कब्रिस्तान पहुंचा तो हुआ सामने आई इसकी वजह

Updated: | Sat, 25 Jan 2020 10:42 AM (IST)

Old man news: आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में एक दूसरे से जुड़े रहने के लिए फोन अहम भूमिका निभाता है। यह एक दूसरे के हालचाल जानने का जरिया भी हैं। किसी शख्स के पास कई महीनों तक किसी रिश्तेदार और परिचित का फोन ना आए तो उसके लिए इस पर चौंकना लाजमी है। ऐसा ही एक मामला स्कॉटलैंड के एक बुजुर्ग के साथ हुआ। अलान हटैल (Alan Hattel) इस वजह से परेशान थे के उनके पास किसी का महीनों से फोन नहीं आया है। जब वह कब्रिस्तान पहुंचे तो उनके सामने इस वजह का खुलासा हुआ। वजह जानकर वह बुरी तरह से सकते में आए।

खुद की कब्र देख चौंके बुजुर्ग

स्कॉटलैंड के फोर्टफार में रहने वाले 75 साल के अलान ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि जब वह कब्रिस्तान में पहुंचेंगे तो उन्हें अपनी ही कब्र मिल जाएगी। इसके बाद उन्होंने अपने रिश्तेदारों और अन्य लोगों को फोन कर बताया कि वह मरे नहीं हैं बल्कि अभी जिंदा हैं। उनका आरोप है कि न्यूमाउंट हिल के इस कब्रिस्तान में उनकी जानकारी के बिना कब्र और उनके नाम का पत्थर लगाया गया है।

कब्र पर खुद के नाम का पत्थर लगाने के मामले में बुजुर्ग अलान ने एंगुस काउंसिल से भी बात की है। वह इस पत्थर को ढ़ंकने की योजना बना रहे हैं। उनका कहना है 'लोगों ने सोचा कि मैं मर गया। मेरा फोन बीते तीन चार महीनों से नहीं बज रहा था। मैं इससे उलझन में था, लेकिन अब मुझे समझ आ गया है कि लोगों ने मुझे क्यों फोन नहीं लगाया।' इसके साथ ही अलान ने कहा कि वह मरने के बाद दफनाए जाने के बजाय अंतिम संस्कार चाहते हैं।

एक्स वाइफ पर लगाया आरोप

75 साल के अलान हटैल इस पूरी घटना के पीछे की वजह अपनी एक्स वाइफ को मानते हैं जिनसे उनका 26 साल पहले तलाक हो चुका है। अलान दावा करते हैं कि उसकी पूर्व पत्नी ने जमीन का एक टुकड़ा खरीदा था और एक कब्र का पत्थर बनवाया था जिसमें दोनों के नाम लिखे थे। उसकी इच्छा थी कि दोनों को साथ में दफनाया जाए। बता दें कि अलान के अपनी पूर्व पत्नी से दो बच्चे हैं।

वह आगे जोड़ते हैं कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि मैं अपनी पूर्व पत्नी के पास में दफनाया जाना चाहता हूं।

Posted By: Neeraj Vyas
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.