आलीराजपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ कै शियर दिलीपसिंह पंवार पर करीब एक साल पहले 50 से अधिक नर्सों ने अश्लील हरकतें और धांधली करने का आरोप लगाया था। प्रारंभिक जांच के बाद के बाद कै शियर को निलंबित कर दिया गया था। अब यह बात सामने आई है कि उक्त कै शियर को आलीराजपुर में ही बहाल कि या जा रहा है। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त, जिला प्रशासन सहित अन्य को लीगल नोटिस भेजा गया है। इसमें कहा है कि छह माह के भीतर जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराएं। जांच पूर्ण होने से पहले बहाली करने पर कोर्ट की शरण ली जाएगी।

एडवोके ट बीएस परिहार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के कै शियर पंवार के खिलाफ नर्सों ने अश्लील हरकतें करने और धांधली करने का आरोप लगाया था। प्रारंभिक जांच के बाद उसे निलंबित कर दिया गया था। निलंबन अवधि में आरोपित कै शियर का मुख्यालय मुख्य चिकि त्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बुरहानपुर रखा गया। हाल ही में पता चला है कि कै शियर को बहाल कर आलीराजपुर में ही पदस्थ कि या जा रहा है। इसके चलते कलेक्टर सहित अन्य पक्षों को लीगल नोटिस भेजा है। इसमें कहा गया है कि बिना जांच पूर्ण हुए कै से बहाल कि या जा सकता है, जबकि कलेक्टर इसके लिए सक्षम अधिकारी नहीं हैं। जांच पूर्ण होने के बाद वे अनुशंसा विभाग के मुख्यालय को भेज सकती हैं। क्योंकि फिलहाल जांच स्वास्थ्य विभाग के मुख्यालय में विचाराधीन है। परिहार के अनुसार जांच में पीड़ित नर्सों के कथन भी नियमानुसार नहीं लिए गए। इस दौरान महिला उत्पीड़न अधिकारी और प्रस्तुतकर्ता अधिकारी मौजूद नहीं थे। यह भी आपत्तिजनक है।