अफसरों ने कहा- कहीं भी कोताही मिली तो होगी कड़ी कार्रवाई, कु ंडवाट में बच्चों से मारपीट का गंभीर मामला आया था सामने

आलीराजपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ग्राम कु ंडवाट में अधीक्षक द्वारा शराब पीकर बच्चों से मारपीट करने का मामला सामने आने के बाद अब प्रशासन इस दिशा में अलर्ट हो गया है। अफसरों का कहना है कि अब क्षेत्र के सभी आश्रमों पर कड़ी नजर रहेगी। अगर कहीं भी कोई कोताही मिली तो सख्त कार्रवाई होगी। इस संबंध में सभी आश्रम अधीक्षकों को हिदायत जारी की जा रही है।

दरअसल नायब तहसीलदार सोंडवा कु लभूषण शर्मा 7 फरवरी को ग्राम कु ंडवाट में निरीक्षण के लिए गए थे। यहां बालक आश्रम में व्यवस्थाएं बदतर पाई गईं। आश्रम में अधीक्षक सुभाष बड़ोद उपस्थित भी नहीं पाए गए। इस पर तहसीलदार ने गंभीर नाराजी जताई। उन्होंने फोन पर अधीक्षक बड़ोद से बात की और सात दिन में सभी व्यवस्थाएं माकू ल करने को कहा। हिदायत दी कि अगली बार निरीक्षण में कोई कोताही मिली तो कार्रवाई होगी। इसके बाद नायब तहसीलदार 11 फरवरी को एक बार फिर आश्रम में निरीक्षण के लिए पहुंचे। यहां अधीक्षक बड़ोद एक बार फिर गैर हाजिर पाए गए। नायब तहसीलदार ने बच्चों से चर्चा की तो वे बिलख उठे। बताया कि पिछली बार नायब तहसीलदार के निरीक्षण के बाद आश्रम अधीक्षक ने शराब के नशे में बच्चों के साथ मारपीट की थी। अधीक्षक को शक था कि अफसर से बच्चों ने ही आश्रम को लेकर शिकायत की है। जब गांव वालों से इस बारे में पूछा तो घटना सही पाई गई। ग्रामीणों ने बताया कि अधीक्षक आए दिन शराब के नशे में बच्चों के साथ मारपीट करता है।

नायब तहसीलदार ने घटना की जानकारी एसडीएम कि रण अंजना को दी। इस पर एसडीएम तुरंत बालक आश्रम कु ंडवाट पहुंची और बच्चों व गांव वालों के बयान दर्ज कि ए। आश्रम का निरीक्षण कि या तो यहां सुविधा और सुरक्षा का अभाव पाया। इस पर अधीक्षक को तलब कर दस्तावेज भी जांचे। इनमें भी गंभीर वित्तीय और प्रबंधकीय अनियमितता पाई गई। इस पर एसडीएम अंजना ने ने कलेक्टर को संपूर्ण घटना को लेकर प्रतिवेदन प्रस्तुत कि या। कलेक्टर ने आश्रम अधीक्षक सुभाष बड़ोद अध्यापक बड़ी उतावली को निलंबित कर दिया।

यह हिदायत जारी कर रहा प्रशासन

-सभी अधीक्षक आश्रम में नियमित रूप से उपस्थित रहें।

-बच्चों की सुविधा और सुरक्षा के लिए संपूर्ण प्रबंध होने चाहिए।

-अगर कहीं कोई असुविधा या कमी है तो विभाग को इसकी जानकारी दें।

-भोजन की गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाए।

0000

सभी आश्रमों सहित अन्य संस्थाओं का लगातार निरीक्षण कि या जा रहा है। कहीं भी लापरवाही मिली तो सख्त कार्रवाई होगी। - कु लभूषण शर्मा, नायब तहसीलदार सोंडवा

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket