आलीराजपुर। नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार को जिला न्यायालय और तहसील कोर्ट जोबट में हुआ। आपसी समझौते से मामला सुलझने पर पक्षकारों के चेहरे खिल उठे। प्रकरण के निराकरण पर हर पक्षकार को पौधा भेंट किया गया। लोक अदालत में कुल 225 प्रकरणों का निराकरण कर करीब 2.49 करोड़ रुपये के अवार्ड पारित किए गए।

जिला कोर्ट एवं तहसील जोबट के समस्त न्यायालयों में प्रधान जिला न्यायाधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अरुणकुमार वर्मा के मार्गदर्शन में लोक अदालत का आयोजन किया गया। प्रातः 10.15 बजे द्वितीय जिला न्यायाधीश रामलाल शाक्य एवं अध्यक्ष जिला अभिभाषक संघ विजय कुमार गेहलोत द्वारा दीप प्रज्जावलित किया गया। सचिव प्राधिकरण दिनेश देवडा, प्रथम जिला न्यायाधीश अभिषेक गोयल, मुख्य न्यायिक मजिस्टेन्नेट सुरेश कुमार शर्मा, न्यायाधीशगण रूपेश कुमार साहू, नितिन वर्मा, शुभम नीमा, अतिरिक्त जिला लोक अभियोजन पीएएस ओहरिया, जिला विधिक सहायता अधिकारी सिमोन सुलिया, अधिवक्ता, अभियोजन अधिकारी व न्यायालयीन कर्मचारी उपस्थित रहे।

न्यायालय परिसर में लगाए गए काउंटर

लोक अदालत के तहत न्यायालय परिसर में बैंक, नगर पालिका एवं विद्युत विभाग के काउंटर लगाए गए। यहां से न्यायालय के लंबित राजीनामा योग्य कुल 763 प्रकरण रैफर किए गए। इनमें 100 प्रकरणों का निराकरण करते हुए कुल 2 करोड़ 28 लाख 16 हजार 500 रुपये के अवार्ड पारित किए गए। प्रीलिटिगेशन के कुल 125 प्रकरणों का निराकरण करते हुए कुल 20 लाख 97 हजार 300 रुपये के अवार्ड जारी किए गए। मोटर दुर्घटना दावा के विभिन्न प्रकरणों में आहतों को और मृतकों के आश्रितों को संपूर्ण जिले में कुल 18350000 रुपये के अवार्ड पारित हुए। निराकृत प्रकरणों के पक्षकारों को आम, जामुन, कटहल, काजू, जाम, आंवला, नीम आदि के पौधे न्याय वृक्ष के रूप में वितरित किए गए।

000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local