आलीराजपुर। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जननायक टंट्या मामा की जन्मस्थली बड़ौदा अहीर (खंडवा) से शुरू हुई क्रांति सूर्य गौरव कलश यात्रा को लेकर आदिवासी अंचल में उल्लास देखते ही बन रहा है। बारिश के बीच यात्रा गुरुवार को आलीराजपुर से बड़ी खट्टाली पहुंची। बारिश और कड़ाके की सर्दी भी लोगों का उत्साह कम नहीं कर पाई। सैकड़ों की संख्या में लोगों ने गौरव यात्रा का स्वागत किया। इस दौरान आदिवासी समाजजन मांदल की थाप पर जमकर थिरके।

बड़ी खट्टाली में गौरव यात्रा का स्वागत हथिनी नदी के किनारे ग्राम की सीमा पर किया गया। मांदल की थाप पर नृत्य करते हुए क्षेत्रवासी यात्रा के साथ चल रहे थे। पश्चात ग्राम पंचायत भवन पर यात्रा पहुंची, जहां सभा हुई। यहां वक्ताओं ने जननायक टंट्या मामा के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए आदरांजलि अर्पित की। सांसद गुमानसिंह डामोर, पूर्व विधायक माधोसिंह डावर, भाजपा जिला अध्यक्ष वकीलसिंह ठकराला ने सभा को संबोधित किया। बता दें कि बुधवार को यात्रा ने जिले में प्रवेश किया था। इसके बाद जिला मुख्यालय पर भव्य स्वागत किया गया था। यहां रात्रि विश्राम के बाद यात्रा अगले पड़ाव पर पहुंची है।

बारिश के कारण सभा का स्थल बदला

पूर्व में गौरव यात्रा के आगमन पर नगर के चौक पर सभा प्रस्तावित की गई थी। हालांकि बारिश के कारण सभा पंचायत भवन में हुई। तहसीलदार आलोक वर्मा, चौकी प्रभारी आरएस मकवाना, एसआई सुरेंद्रसिंह सिसोदिया सहित नगरवासी रमेश मेहता, मदन लड्ढा, प्रहलाद लड्ढा आदि उपस्थित थे।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local