छकतला। समीपस्थ ग्राम कु नवाट में तेंदुए के आंतक से ग्रामीण दहशत में है। सोमवार रात तेंदुए ने दो घरों पर हमला कर चार बकरी और दो मुर्गों सहित आधा दर्जन जानवरों को अपना शिकार बनाया। ग्रामीणों की सूचना के बाद वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा और नुकसानी का आकलन कर चौकन्ना रहने की बात कही।

इसके बाद अमले ने जांच में पाया कि तेंदुए ने ही जानवरों की जान ली है। वन विभाग के रेंजर रतनसिंह सिंगोड़ ने ग्रामीणों से कहा कि आप लोगों को रात में गश्त कर सतर्क रहना होगा। साथ ही आसपास खेतों में रात को पटाखे फोड़े, ताकि तेंदुआ गांव से दूर जंगल की ओर भाग जाए।

रेंजर सिगोड़ ने बताया कि कि सानों के जिन मवेशियों का नुकसान हुआ है, उसका मुआवजा मिलेगा। वहीं विभाग की ओर से तेंदुए की निगरानी के लिए एक पांच सदस्यों की टीम गठित कर दी गई है, जो रात में गश्त कर तेंदुए पर नजर रखेंगे।

सोंडवा विकासखंड के पूर्व जनपद अध्यक्ष शमशेर सिंह ने बताया कि गांव के रमेश पिता मोजिला, बुनियाद अली पिता मोहब्बत अली दीवान के घर के बाहर बंधे मवेशी पर तेंदुए ने हमला कर दिया था, इससे उनकी मौत हो गई। रेंजर सिंगोड़ ने बताया कि पंचनामा बनाकर आगे पेश कर कि या जाएगा। शासन के अनुसार कि सानों को जो नुकसान होगा वह मिल जाएगा।

Posted By: