Jobat MP By Election Voting Updates: आलीराजपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के जोबट विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 192 के उप चुनाव में शांतिपूर्वक मतदान जारी है। विधानसभा के कट्ठीवाड़ा शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 15 पर बैटरी डिस्चार्ज होने के कारण ईवीएम बंद हो गई। इससे यहां करीब आधे घंटे तक मतदान थमा रहा। बाद में बैटरी चार्ज कर मतदान प्रारंभ कराया गया। इसे लेकर यहां मतदाताओं ने नाराजगी भी जताई। बेहद सख्त सुरक्षा व्यवस्था की बदौलत पूरे क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान हो रहा है।दोपहर 3 बजे तक का मतदान प्रतिशत 46.12 रहा।

53 फीसद से अधिक मतदान, यह रिकार्ड

53 फीसद से अधिक मतदान, यह रिकार्ड

जिला निर्वाचन कार्यालय के अनुसार जोबट में 53 फीसद से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है। यह एक रिकार्ड है। बीते चुनाव की तुलना में मतदान प्रतिशत बढ़ा है। इसे जिला प्रशासन के स्वीप प्लान के तहत किए गए प्रयासों की सफलता माना जा सकता है। राजनीति के जानकार इस सीट पर अधिकतम 45-50 फीसद वोटिंग का ही अनुमान जता रहे थे। हालांकि मतदाताओं का जबर्दस्त उत्साह यहां नजर आया।

जोबट विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बोरझाड़ में शासकीय हाईस्कूल पर बनाए गए केंद्र पर मतदान जारी है। दोपहर 12. 30 तक 32% मतदान हुआ। 11 बजे तक वोट प्रतिशत बढ़कर 28.55 फीसद के करीब हो गया ।अब मतदान का प्रतिशत बढ़ते जा रहा है। जोबट में दोपहर 1 बजे तक प्रतिशत 40.61 % तक पहुंच गया है।

मतदान का जोश, 102 साल की मड़ीबाई वोट डालने पहुंचीं

जोबटविधानसभा उप चुनाव में बुजुर्ग भी जोश के साथ मतदान करने पहुंच रहे हैं। चंद्रशेखर आजादनगर में 102 साल की मड़ीबाई वोट करने पहुंचीं। स्वजन उन्हें व्हील चेयर पर मतदान के लिए लाए।

आठ बजे के बाद आई तेजी

जोबट विधानसभा उप चुनाव में मतदान के प्रति उत्साह नजर आ रहा है। शुरुआत में गति धीमी रही, हालांकि सुबह आठ बजे के बाद इसमें तेजी आ गई। रिटर्निंग अधिकारी व एसडीएम जगदीश मेहरा ने बताया कि सुबह नौ बजे तक 12.52 फीसद वोटिंग हुई है।

मतदान केंद्र के सामने नेटवर्क का गोला

जोबट विधानसभा क्षेत्र के सघन वन क्षेत्र में कई जगह मोबाइल नेटवर्क न मिलने की समस्या है। ग्राम खरकाली में मतदान केंद्र के सामने गोला बनाया है, जहां नेटवर्क मिल पाता है। मतदान दल के सदस्य भी यहीं आकर मोबाइल काल कर रहे हैं।

सघन वन क्षेत्र में गुजरात सीमा पर मतदान का उत्साह

कट्ठीवाड़ा के सघन वन क्षेत्र में स्थित गुजरात सीमा के गांव-फलियों में भी मतदाताओं में खासा उत्साह है। सीमावर्ती क्षेत्र के मतदान केंद्र काछला में बूथ क्रमांक एक पर दर्ज 901 वोटरों में से 214 ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है। वहीं खरकाली में 779 मतदाताओं में से 175 ने अब तक मतदान किया है।

जोबट जिले में कट्ठीवाड़ा में सुखदेव पटेल प्रधानाध्यापक हाईस्कूल राजेन्द्र आश्रम लिस्ट में नाम नहीं होने के कारण वोट नही दे पाए। इनकी पत्नी का नाम मतदाता सूची में हैं, उन्होंने मतदान किया है।

अब बारी जनता की है। सभी प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों को सुनने के बाद क्षेत्र के लोग शनिवार को अपना विधायक चुन रहे हैं। सुबह सात बजे यहां मतदान आरंभ हो गया। कांग्रेस उम्‍मीदवार महेश पटेल अपने पिता के चित्र को प्रणाम कर मतदान के लिए निकले।

गुलाबी सर्दी के बीच फिलहाल कम ही मतदाता वोट करने निकले । सुबह आठ बजे से मतदान में तेजी आई। भाजपा प्रत्याशी सुलोचना रावत कुछ ही देर में मतदान केंद्र क्रमांक 152 माध्यमिक विद्यालय कानाकाकड़ पर वोट करने के लिए पहुंची।

उल्‍लेखनीय है कि चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं की खामोशी ने यहां राजनीति के जानकारों को भी अब तक मौन कर रखा है। जाहिर है, यहां के चुनाव परिणाम ने खासी उत्सुकता पैदा कर दी है। जनता का मत किसके पक्ष में जाएगा, यह कहना फिलहाल बेहद मुश्किल है। बहरहाल सूबे के दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस ने यहां जीत के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी है। दो नवंबर को परिणाम सामने आने पर ही पता चल सकेगा कि जनता को रिझाने में कौन कामयाब रहा।

उप चुनाव में क्षेत्र के 417 मतदान केंद्रों पर 275172 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। जिला निर्वाचन कार्यालय के अनुसार यहां 10 पिंक बूथ बनाए गए हैं। इनमें चार जोबट, चार आजादनगर तथा दो उदयगढ़ में हैं। क्षेत्र में कुल 59 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं। बता दें कि छह उम्मीदवार जोबट विधानसभा उप चुनाव के मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला भाजपा उम्मीदवार सुलोचना रावत और कांग्रेस प्रत्याशी महेश पटेल के बीच माना जा रहा है। दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के उम्मीदवार यहां बूथ मैनेजमेंट में लगे हैं। इस दौरान आरोप-प्रत्यारोप भी सामने आ रहे हैं। इस बीच सरकारी मशीनरी निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए लगातार मैदान में सक्रिय बनी हुई है। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के प्रयास भी किए गए।

मुख्य मुकाबला : जानिए कौन हैं विधानसभा में जाने के दावेदार

सुलोचना रावत, भाजपा, चिन्ह- कमल का फूल

वर्ष 1996 में कांग्रेस के टिकट पर पहली बार विधायक चुनी गईं। इसके बाद 1998 में भी जोबट से विधानसभा चुनाव जीता। तत्कालीन सरकार में राज्यमंत्री रहीं। 2003 के विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। साल 2008 में फिर जीत हासिल की। साल 2013 में चुनाव में पार्टी ने पुत्र विशाल रावत को टिकट दिया, हालांकि इस बार रावत परिवार को जीत नहीं मिल सकी। साल 2018 के चुनाव में टिकट न मिलने पर रावत परिवार के विशाल ने बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ा। नजदीकी मुकाबले में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद कांग्रेस से पूर्व मंत्री सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल को निष्कासित कर दिया गया। हाल ही में उप चुनाव से पहले फिर से दोनों को पार्टी में प्रवेश दिया गया। हालांकि रावत परिवार ने हाल ही में भाजपा का दामन थाम लिया है। भाजपा ने सुलोचना रावत को टिकट दिया है।

महेश पटेल रावत, कांग्रेस, चिन्ह- हाथ का पंजा

साल 1998 में स्थानीय कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष बने। वर्ष 2000 में उन्हें राज्य मंडी बोर्ड का सदस्य बनाया। इसी साल वे मप्र युवा कांग्रेस के सचिव भी बने। साल 2003 में पार्टी ने आलीराजपुर विधानसभा से उम्मीदवार बनाया। हालांकि हार का सामना करना पड़ा। साल 2005 में पटेल अविभाजित झाबुआ जिला पंचायत के उपाध्यक्ष पद बने। 2008 में पार्टी ने उन्हें फिर मैदान में उतारा और तीन हजार वोटों से हार हुई। इसके बाद से पटेल की भूमिका संगठन में ही अधिक रही है। बाद में उन्हें जिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया।

चुनाव मैदान में प्रत्याशी निर्दलीय

-दलसिंह भीमा, चिन्ह- बिजली का खंभा

-दिलीपसिंह भूरिया, चिन्ह- कांच का गिलास

-मोहनसिंह निगवाल, चिन्ह- गैस सिलिंडर

-सरदार परमार, चिन्ह- आटो रिक्शा

पिछले पांच चुनाव में जोबट की जनता का यह रहा फैसला

1998 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने सुलोचना रावत को टिकट दिया था। जोबट की जनता ने उन्हें चुनकर विधानसभा भेजा। 2003 के विधानसभा चुनाव में पहली बार यहां भारतीय जनता पार्टी का खाता खुला। भाजपा के माधोसिंह डावर का जनता ने चुनाव किया। 2008 के चुनाव में एक बार फिर जनता ने कांग्रेस की सुलोचना रावत को चुनकर भेजा। साल 2013 में फिर से बाजी पलटी और मतदाताओं ने भाजपा के माधोसिंह डावर पर भरोसा जताया। साल 2018 के चुनाव में करीबी मुकाबले में कांग्रेस प्रत्याशी कलावती भूरिया ने चुनाव जीता। हालिया चुनाव में सुलोचना कांग्रेस छोड़ भाजपा में आ गई हैं और पार्टी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया है।

गत चुनाव में यह रहा था परिणाम

विजयी प्रत्याशी : कलावती भूरिया, कांग्रेस, कुल प्राप्त मत : 46067, वोटों का प्रतिशत : 33.53

निकटतम प्रतिद्वंद्वी : माधोसिंह डावर, भाजपा, कुल प्राप्त मत : 44011, वोटों का प्रतिशत : 32.04

कितने केंद्र, कितने संवेदनशील

275172 कुल मतदाता

137612 पुरुष वोटर

137560 महिला वोटर

417 मतदान केंद्रों पर होगी वोटिंग

59 केंद्र विधानसभा में संवेदनशील

02 नवंबर को चुनाव परिणाम की घोषणा होगी

05 नंवबर तक प्रभावी रहेगी आचार संहिता

यह जानना जरूरी

-सुबह मॉक पोल हुआ। इसके बाद सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ, जो शाम छह बजे तक होगा।

-संवेदनशील मतदान केंद्रों पर वेबकास्ट के माध्यम से निर्वाचन आयोग की सीधी नजर रखी जा रही है।

-तीन हजार से अधिक कर्मचारी मतदान कार्य में लगाए गए हैं। अर्द्धसैनिक बल सहित आसपास के जिलों के पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात किए गए हैं।

पल-पल रखी जा रही नजर

आलीराजपुर। मतदान दलों को शासकीय महाविद्यालय आलीराजपुर से निर्वाचन कराए जाने के लिए शुक्रवार को सामग्री का वितरण किया गया। मतदान सामग्री वितरण स्थल पर सामान्य प्रेक्षक ओपी वर्मा, पुलिस प्रेक्षक महेंद्रसिंह पूनिया, कलेक्टर मनोज पुष्प, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने मतदान सामग्री वितरण की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इससे पहले राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजदूगी में स्ट्रांग रूम खोला गया। पश्चात सामग्री का वितरण किया गया।

वाहनों की पल-पल की मूवमेंट

मतदान दल के वाहन जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से जुड़े हैं। इससे प्रत्येक वाहन की पल-पल की मूवमेंट की मानीटरिंग जिला स्तर पर बनाए गए कंट्रोल रूम से हो रही है। निर्वाचन कार्य में लगने वाले 192 वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाया गया है।

तो फिर अंतिम घंटे में वोट

हर मतदान केंद्र पर सभी सुविधाएं जुटाई गई हैं। रैंप, व्हील चेयर, प्रतीक्षा कक्ष, पेयजल, ब्रेल सुविधा, शौचालय, थर्मल स्कैनर आदि सुविधाएं उपलब्ध हैं। कोविड के मद्देनजर यदि किसी व्यक्ति का तापमान तय मानक से अधिक है तो उसका दोबारा तापमान लिया जाएगा। फिर भी तय मानक से अधिक होने पर मतदान समय के अंतिम घंटे में मतदान कर सकेंगे। 80 प्लस आयु के मतदाता तथा दिव्यांगजनों के लिए घर से केंद्र तक लाने तथा वापसी वाहनों की सुविधा रहेगी।

तैनात रहेगी एंबुलेंस

मतदान दिवस के दिन शासकीय महाविद्यालय आलीराजपुर परिसर में बनाए गए मतदान सामग्री वितरण स्थल एवं जोबट विधानसभा क्षेत्रांतर्गत सभी थानों में मेडिकल टीम के साथ एंबुलेंस तैनात रहेगी। किसी भी मेडिकल इमरजेंसी में उक्त एंबुलेंस के माध्यम से तत्काल उपचार मुहैया कराया जाएगा।

ये पहचान पत्र दिखाकर करें वोट

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्ड दिखा मतदाता मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त आयोग द्वारा पहचान के 11 अन्य दस्तावेजों में से कोई भी एक मूल दस्तावेज दिखाकर भी मतदान किया जा सकता है। पहचान के 11 दस्तावेजों में आधार कार्ड, मनरेगा कार्ड, बैंकों, डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटो युक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय की योजना अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, लाइसेंस, पैन कार्ड, एनपीआर के अंतर्गत आरजीआई द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज, राज्य/केंद्र सरकार के लोक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, सांसदों, विधायकों, विधान परिषद सदस्यों को जारी किए शासकीय पहचान पत्र दिखाकर भी मतदान किया जा सकेगा।

सार्वजनिक अवकाश

30 अक्टूबर शनिवार के दिन जोबट विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उप निर्वाचन के तहत क्षेत्र में सार्वजनिक अवकाश है। इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई थी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local