Love Jihad in Alirajpur: आलीराजपुर। एक विवाहित महिला ने प्रेम प्रसंग में प्रेमी और उसके साथी के साथ मिलकर अपने पति को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। प्रेमी जिशान पिता सलीम कुरैशी और उसका साथी शकील पिता सलीम धार जिले के कुक्षी के रहने वाले हैं। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ लव जिहाद की धारा भी लगाई है। पुलिस के अनुसार वीरेंद्र पिता सरदार उम्र 30 वर्ष निवासी सती फलिया टेलरिंग का काम करता था। वह गत आठ सितंबर से घर से लापता था। स्वजन उसकी तलाश में जुटे हुए थे। इस बीच 10 सितंबर को ग्राम उमराली में अनखड़ नदी में उसकी लाश मिली। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर चोट के कई निशान पाए गए। सोंडवा पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया था। स्वजन ने शुरू से ही जिशान पर शक जताते हुए पुलिस को इसके कई साक्ष्य भी दिए थे। इस पर पुलिस ने आरोपित की तलाश शुरू कर दी। साइबर सेल की मदद से जिशान की लोकेशन महू में मिली, जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

सोंडवा में लव जिहाद में हुए हत्याकांड को लेकर आक्रोश जताते हुए आदिवासी समाजजन।

पूछताछ में स्वीकारा - पति को रास्ते से हटा अपना बनाना चाहता था

एसपी मनोज कुमार सिंह के अनुसार आरोपित जिशान ने पूछताछ में बताया कि वीरेंद्र की पत्नी कविता के साथ उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस पर वह उसके पति को रास्ते से हटाकर उसे अपना बनाना चाहता था। योजना के तहत आठ सितंबर को वह बाइक पर अपने साथी शकील के साथ ग्राम उमराली आया। यहां दोनों ने कविता के साथ मिलकर वीरेंद्र की हत्या कर दी।

सोंडवा में जनजाति विकास मंच के बैनर तले ज्ञापन देने के लिए पुलिस थाने पर जाते हुए आदिवासी समाजजन।

इसके बाद अंधेरे का फायदा उठाकर शव को अनखड़ नदी में फेंक दिया। आरोपित ने बताया कि उसने शकील को बाइक पर कुक्षी तथा कविता को धार जिले में रिश्तेदार के यहां छोड़ा था। लोकेशन मिलते ही शेष दो आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ भादवि की धारा 302, 201, 120बी, 212, 34, धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 3 (1) (क) 5 व अजा-अजजा अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस थाना परिसर में घटना के विरोध में प्रदर्शन करते हुए आदिवासी समाजजन।

आदिवासी समाज में आक्रोश, कहा-जल्द फांसी दी जाए

घटना को लेकर आदिवासी समाज में गहरा आक्रोश है। घटना का खुलासा होते ही रविवार को सोंडवा में आदिवासी समाज की बैठक हुई। इसमें घटना को लेकर आक्रोश जताते हुए कहा गया कि आरोपितों को जल्द फांसी दी जानी चाहिए। लव जिहाद की बीमारी अब बड़े शहरों से गांव तक में सामने आ रही है। मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाना चाहिए। इस मांग को लेकर कुछ देर बाद समाजजन पुलिस को ज्ञापन सौंपने के लिए पहुंचेंगे।

सोंडवा में थाना प्रभारी एसएस बघेल के समक्ष ज्ञापन का वाचन करते हुए आदिवासी समाजजन।

अन्य युवतियों से भी संबंध, मस्जिदों में साथ ले गया

जांच में समाने आया है कि जिशान के अन्य युवतियों से भी संबंध हैं। क्षेत्र की एक अन्य युवती के जरिये से वह कविता के संपर्क में आया था। इसके बाद से वह लगातार उससे मिलता रहा। इस दौरान वह उसे अपने साथ मस्जिदों में भी ले गया तथा धर्म परिवर्तन का प्रयास भी किया। पुलिस का कहना है कि इसे लेकर भी जांच की जा रही है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close