आलीराजपुर/कट्ठीवाड़ा। मध्यप्रदेश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा की अनिश्चितकालीन हड़ताल के 9वें दिन संविदा कर्मियों ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। इस दौरान जमकर नारेबाजी की गई। हड़ताली कर्मचारियों का कहना है कि जब तक सरकार द्वारा मांगें नहीं मानी जातीं, काम पर नहीं लौटेंगे। संविदा कर्मचारियों की मांगें स्वीकार करने पर सरकार पर कोई आर्थिक भार भी नहीं पड़ेगा। इसके बाद भी हठधर्मिता दिखाई जा रही है।

संयुक्त मोर्चा पदाधिकारियों ने बताया कि 17 विभाग, योजनाएं व मिशन के कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इस दौरान जिले के समस्त विकासखंड में जनपद पंचायत कार्यालयों के बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी क्रम में अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया है, ताकि सरकार इस ओर ध्यान दे। पदाधिकारियों का कहना है कि हड़ताल के कारण पंचायत और ग्राम विकास के काम ठप हैं। इस कारण आम लोग परेशान हो रहे हैं। सरकार को पूर्व में ही इस संबंध में ज्ञापन देकर अवगत कराया गया, मगर शासन ने सुनवाई नहीं की। सरकार अड़ियल रवैया अपना रही है, जिससे कर्मचारियों में रोष है। भोपाल स्तर पर आयोजित वीडियो कांफ्रेंस में एसीएस ने कलेक्टरों को अपने तरीके से कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, परंतु संयुक्त मोर्चा द्वारा पूर्व में ही शासन को हड़ताल की सूचना देकर न्यायालय में याचिका दायर कर दी गई है, ताकि हड़ताल को अवैध घोषित नहीं किया जा सके। संयुक्त मोर्चा द्वारा भोपाल स्तर पर बैठक कर सरकार द्वारा हड़ताल करने वालों में डर पैदा करने के प्रयासों को नाकाम करने के लिए रणनीति तैयार कर न्यायालय की शरण ली जाएगी। कर्मचारियों ने मांगें पूरी नहीं होने तक लगातार धरना-प्रदर्शन जारी रखने का निर्णय लिया है।

बारिश की परवाह किए बगैर धरने पर डटे

कट्ठीवाड़ा जनपद पंचायत प्रांगण के बाहर हड़ताली कर्मचारियों ने शुक्रवार को 9वें दिन अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। बारिश की परवाह किए बगैर कर्मचारी यहां लगातार डटे हैं। कर्मचारियों ने कहा कि जब तक सरकार मांगें नहीं मानती, प्रदर्शन जारी रहेगा। इस दौरान सचिव संघ अध्यक्ष धनसिंह तोमर, सहायक सचिव संघ अध्यक्ष जामसिंह डावर, संयुक्त मोर्चा अध्यक्ष दीपक परमार्थी सहित समस्त संघों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local