पंचेश्वर के आंगन में श्रावण का उल्लास... बरसा भक्ति रस

महोत्सव : भगवान का सोमनाथ के रूप में हुआ दिव्य श्रृंगार, भजन संध्या का भक्तों ने लिया आनंद, अन्य मंदिरों में भी उमड़ रही आस्था

आलीराजपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अंचल के शिवालयों में महादेव को प्रिय श्रावण मास का उल्लास छाया है। बड़ी संख्या में भक्त भगवान भोलेनाथ के दिव्य दर्शन को उमड़ रहे हैं। इस दौरान बाबा का नित नया श्रृंगार किया जा रहा है। भक्त विविध रूपों के दर्शन कर धन्य हो रहे हैं।

नगर के प्राचीन व अंचल की आस्था के केंद्र भगवान पंचेश्वर के आंगन में भक्तों की कतार नजर आ रही है। यहां श्रावण मास के दूसरे सोमवार को महोत्सव के तहत भजन संध्या का आयोजन किया गया। भजन गायक अनिरुद्घ मुरारी ने भजनों की सुमधुर प्रस्तुति दी। देर रात तक श्रद्घालुओं ने भजनों का आनंद लिया। इस अवसर पर भगवान का ज्योतिर्लिंग सोमनाथ के रूप में श्रृंगार किया गया। भगवान के दर्शन के लिए आस्था की कतार लगी रही। उधर, नगर के दाहोद नाका सांई मंदिर तथा राज राजेश्वर शनि मंदिर में भी बाबा का मनमोहक श्रृंगार किया गया। दोनों मंदिरों में बड़ी संख्या में भक्तों ने दर्शन कर खुद को निहाल पाया। मंदिरों में दर्शन के लिए विशेष इंतजाम किए गए तथा प्रसादी का वितरण भी किया गया।

महादेव सुन रहे राम कथा

पंचेश्वर मंदिर प्रांगण में हर दिन राम कथा का पारायण भी किया जा रहा है। श्रद्घालु यहां रामायण का पाठ कर रहे हैं। परंपरा अनुसार श्रावण मास में भगवान शिव को भगवान राम की कथा सुनाई जा रही है। उधर, नगर के पंचमुखी हनुमान हनुंमान मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा का श्रद्घालु श्रवण कर रहे हैं।

दमक रहा बाबा का दरबार, किया दिव्य श्रृंगार

नानपुर के बड़चौक में नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर में सावन का उल्लास छाया है। हर दिन बड़ी संख्या में भक्त पहुंच रहे हैं। बाबा का आकर्षक श्रृंगार किया जा रहा है। मंदिर के बाहर आकर्षक विद्युत सज्जाा भी की गई है। यहां महाआरती के बाद प्रसाद का वितरण किया जा रहा है।

03एएलआई11- आलीराजपुर के पंचेश्वर महादेव मंदिर में लगी भक्तों की कतार।

03एएलआई12- पंचेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण में भजन की प्रस्तुति देते अनिरुद्घ मुरारी व साथी।

03एएलआई13- नगर के राज राजेश्वर शनि मंदिर में बाबा के शीश धारण की गई पगड़ी।

03एएलआई14- दाहोद नाका सांई मंदिर में महादेव के साकार रूप में हुए दर्शन।

03एएलआई15- सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के रूप में भगवान पंचेश्वर का किया गया श्रृंगार।

03एएलआई16- नानपुर के नीलकंठेश्वर महादेव ने भक्तों को इस रूप में दिए दर्शन।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local