अनूपपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भारत संचार निगम लिमिटेड के जिले भर के कार्यालयों में सोमवार से 12 सूत्रीय मांगो को लेकर अधिकारी व कर्मचारी कामबंद हड़ताल पर चले गए हैं। यह हड़ताल बुधवार तक रहेगी। 3 दिवसीय इस हड़ताल से यदि बीएसएनएल की लाइन में या कार्यालय से संबंधित कोई तकनीकि गड़बड़ी होती है तो संचार सेवाओं पर सीधा असर पड़ेगा, क्योंकि इन तीन दिनो तक यहां के कर्मचारी-अधिकारी कोई भी कार्य नहीं करेंगे। बीएसएनएल के कर्मचारी कई महीनों से अपनी मांगों को पूरा करने की आवाज उठाते रहे हैं। मगर सरकार ने उनकी मांगो पर कोई विचार नहीं किया। बताया यह भी जा रहा है कि उल्टे विभाग को बंद करने की चर्चा शुरू हो गई है। जिले में अनूपपुर और कोतमा कार्यालय के लगभग 15 अधिकारी व कर्मचारी का स्टाफ हड़ताल में शामिल हैं।

यह है कर्मचारियों की मांग

15 फीसदी फिटमेंट के हिसाब तीसरे पेरिवीजन का निराकरण किया जाए। प्रस्तुत प्रस्ताव के मुताबिक बीएसएनएल को 4जी स्पेक्ट्रम का आवंटन किया जाए। 1 जनवरी 2017 से रिडायरिन का पेंशन रिवीजन किया जाए। संचार राजमंत्री द्वारा किए गए पेंशन रिवीजन को पेरिवीजन से अलग करने के आश्वासन पर क्रियान्वयन किया जाए। बोर्ड आफ डायरेक्टर्स के सभी रिक्त पदों पर शीघ्र नियुक्ति की जाए। बीएसएनएल के बैंक ऋण लेने के लिए प्रस्ताव के वास्ते लेटर आफ कम्फर्ट जारी किया जाए। विभाग के स्थापना के समय ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स द्वारा लिए गए निर्णयानुसार बीएसएनएल की वित्तीय जीवंतता सुनिश्चित की जाए। भूमि प्रबंधन नीति का बगैर देरी किए शीघ्र अनुमोदन किया जाए। सेकंड पेरिवीजन के शेष मुद्दों का निराकरण किया जाए। लिए गए निर्णय के अनुसार नाम परिवर्तन की और सभी संपत्ति बीएसएनएल को स्थानांतरित करने की कार्यवाही तुरंत पूरी की जाए। मोबाईल टॉवर्स का आउट सोर्सिग के जरिए संचालन एवं रख-रखाव का प्रस्ताव रद्द किया जाए। सरकार के नियमानुसार पेंशन कांट्रीव्यूशन का भुगतान किया जाए।

01 अनूपपुर। दूर संचार कार्यालय अनूपपुर।

Posted By: