लीड

23 मार्च को तैरने के दौरान तालाब की जलकुंभी में फंसकर डूब गया था, चचाई के देवहरा पुलिस चौकी के ग्राम पंचायत पटनाकला का मामला

अनूपपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

थाना चचाई व देवहरा पुलिस चौकी अंतर्गत ग्राम पंचायत पटनाकला के एक तालाब में 23 मार्च की दोपहर तालाब को पार करने के दौरान 14 वर्षीय एक किशोर डूब गया था। तालाब में डूबे बच्चे के शव को निकालने का प्रयास दो दिनों तक चला, लेकिन शव नहीं मिला। मछुआरों की मदद से तीसरे दिन सोमवार को सुबह बच्चे के शव को खोजा गया। मृतक बालक का नाम कमलेश पिता रामखेलावन बैगा है। 45 घंटे तक बालक के शव को खोजने का रेस्क्यु अभियान पुलिस द्वारा चलाया गया। अनूपपुर, शहडोल होमगार्ड के आपदा प्रबंधन दल के ासाथ ही स्थानीय मछुआरों और ब्यौहारी के मछुआरों के संयुक्त प्रयास से शव को तालाब से निकाला जा सका। शव का पीएम जिला अस्पताल में कराकर परिजनों को सौंपा गया। बच्चे के डूबने का प्रारंभिक वजह तैरने के दौरान पैंट का हिस्सा एक एल्युमीनियम तार जो तालाब के जलकुंभी में था में फंस गया, जिससे उक्त बालक पानी से बाहर नहीं निकल सका और उसकी जल समाधी बन गई।

ऐसा है मामला

घटना के बारे में चचाई थाना प्रभारी अरविन्द साहू द्वारा बताया गया देवहरा चौकी अंतर्गत ग्राम पटना कला में बीते 23 मार्च को गांव के हुलहा तालाब में दो बालक नहाने करीब 1 बजे गए थे, जहां दोनों तालाब को पार करने का निर्णय लिया। उस समय तालाब में दो और लोग नहाने एवं कपड़े धोने पहुंचे थे। तैरने के दौरान मृतक कमलेश बैगा आगे था और उससे उम्र में छोटा 10 वर्षीय रुबलु नाम का बालक पीछे तैरता आ रहा था। बताया गया तालाब के मध्य जब कमलेश पहुंचा तो वहां पानी में मौजूद जलकुंभी घास में वह फंस गया और डूबने लगा। पीछे आ रहा बालक ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन कमलेश को पकड़ने के दौरान वह उसी की तरफ खिंचने लगा, जिससे वह वहां से अलग हुआ और देखते ही देखते कमलेश पानी के नीचे चला गया। तालाब में मौजूद लोगो ने गांव में जाकर सूचना दी। ग्रामीण एकत्र हुए और अपने स्तर से डूबे कमलेश को खोजने और निकालने का प्रयास क़रना चाहा, लेकिन कामयाब नहीं हुए। पुलिस को सूचना दी गई। करीब 4 बजे से पुलिस द्वारा जिला होमगार्ड बल अनूपपुर की मदद से डूबे बालक के शव को खोजने रेस्क्यु अभियान शुरु किया, लेकिन अंधेरा होने तक कोई सफलता नहीं मिली। अगले दिन शनिवार को भी रेस्क्यू चला। शहडोल होमगार्ड एवं सोहागपुर एरिया कालरी की रेस्क्यु टीम भी पूरे दिन प्रयास करती रही। स्थानीय अमिलिहा गांव के मछुआरे बुलवाए गए जो जाल डालकर तलाशने की कोशिस की फिर भी कामयाबी नहीं मिली। थाना प्रभारी चचाई ने बताया कि शहडोल जिले के ब्यौहारी से मछुआरों को बुलवाया गया। सोमवार सुबह दोनो क्षेत्र के मछुआरों और होमगार्ड बल द्वारा फिर से अभियान शुरु किया गया। मछुआरों ने महाजाल बिछाकर तालाब के अंदर से जलकुंभी अलग की। तालाब के दक्षिणी मध्य हिस्से पर जाल में आखिरकार सुबह 9 बजे डूबे बालक का शव फंसा, जिसे बाहर निकाला गया। बताया गया मृतक कमलेश की पेंट कमर के नीचे हो गई थी उस पर एक एल्युमीनियम की तार फंसी हुई मिली। संभावना जताई गई यही वजह बच्चे के फंसने का कारण बनी। इन दो दिनो तक पूरे गांव में शोक का महौल रहा। ग्रामीण बडी संख्या में बच्चे के शव मिलने के इंतजार में तालाब के आसपास डटे रहे। बताया गया मृतक के कुल चार भाई बहन थे, जिसमें से वह दूसरा था। परिवार में पहले बच्चे की भी मौत हो चुकी है। परिवार के लोग इस घटना से सदमे में हैं। बताया गया इस पूरे रेस्क्यु अभियान में मछुआरों ने सराहनीय भूमिका निभाई जो यहां आकर शव खोजने में अपना बेहद योगदान दिया।

इनका कहना है

दो दिन के प्रयास उपरांत मछुआरों ने सोमवार की सुबह बालक के शव को बाहर निकाला है। इस रेस्क्यु अभियान में अनूपपुर के होमगार्ड, स्थानीय व बाहरी मछुआरे, एसईसीएल के रेस्क्यू टीम, स्थानीय ग्रामीणों का सराहनीय व मेहनत का परिणाम रहा कि 45 घंटे में शव ढूढ़ा जा सका- अरविंद साहू थाना प्रभारी चचाई

फोटो- 25 एएनयू 7,8,10 अनूपपुर। तालाब में शव खोजते हुए गोताखोर।

फोटो- 25 एएनयू 9 मृत बालक का शव।

कार की ठोकर से किशोरी का पैर टूटा

अनूपपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर के सामतपुर तालाब से चचाई मार्ग में सोमवार को एक कार चालक ने लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाता हुए एक बाईक को ठोकर मार दी। इस घटना में बाइक के पीछे बैठी सुमन (16) पिता बसंत बासिल निवासी चंदासटोला गंभीर रुप से घायल हो गई। घटना में किशोरी का एक पैर टूट गया। जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार उपरांत डॉक्टर द्वारा शहडोल रिफर कर दिया गया। ठोकर मारने के बाद उक्त अज्ञात कार चालक भाग निकला। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर आरोपी वाहन चालक एवं वाहन की पतासाजी शुरु कर दी है। सीसीटीवी के माध्यम से गाड़ी का पता किया जा रहा है। जानकारी अनुसार 12.30 बजे सामतपुर तिराहा से गैस गोदाम जाने वाले रास्ते में तालाब के निकट मुख्य मार्ग में एक कार अनूपपुर की तरफ आ रही थी। एक बस के पीछे एक बाईक में उक्त किशोरी बैठी थी। ओवर टेक करने के प्रयास में डिजायर कार चालक ने बाईक में ठोकर मार दी, जिससे बाईक में पीछे बैठी सुमन बासिल के पैर में कार का अगला हिस्सा जोरों से लगा। ठोकर लगते ही बाईक चला रहा युवक दूर जा गिरा। घटना के बाद कार चालक रुका नहीं और सामतपुर मंदिर की तरफ निकल गया। राहगीरों द्वारा एंबुलेंस और पुलिस को सूचित किया गया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। सामतपुर में लगे कै मरे से कार का पता लगाया जा रहा है।

फोटो- 25 एएनयू 3 घायल सुमन बासिल

ऑटो के पलटने से 10 यात्री हुए घायल

अनूपपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोतवाली अनूपपुर अंतर्गत ग्राम सेंदुरी मौहरी से एक ऑटो करीब 16-17 लोगों को जैतहरी थाना क्षेत्र के ग्राम क्योंटार लेकर जा रहा था। रविवार की रात करीब 9 बजे चांदपुर गांव के तिराहा के पास चालक ने लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाते हुए सीधी रोड में गाड़ी को पलटा दी। इस घटना में 10 लोग घायल हुए, जिसमें से 7 को जिले से बाहर रिफर किया गया है, 3 लोग जिला अस्पताल में ईलाजरत हैं। जैतहरी पुलिस ने घटना की सूचना पर आटो चालक के विरुद्घ अपराध पंजीवद्घ कर लिया है और वाहन को भी अभिरक्षा में ले लिया है।

घटना के बारे में बताया गया ग्राम क्योंटार से राठौर समाज का एक पारिवारिक सदस्य ग्राम सेंदुरी बरहों के कार्यक्रम में रविवार को शामिल होने के लिए गया हुआ था। कार्यक्रम के बाद रात में वापसी समय एक आटो से करीब 15 लोग सवार होकर क्योंटार गांव वापस आ रहे थे, वाहन में सभी सवारी महिलाएं थीं। बताया गया चांदपुर तिराहा जैसे ही गाड़ी पहुंची, चालक ने गाड़ी से नियंत्रण खो दिया और गाड़ी पलट गई। घायलों के अनुसार चालक नशे की हालत में था। जिस तरफ आटो पलटी उसमें कई लोग नीचे दब गए। स्थानीय लोगों ने मदद कर दुर्घटनाग्रस्त आटो को खड;ा किया और घायलों को एंबुलेंस बुलवाकर जिला अस्पताल भेजवाया।

यह हुए घायल

जानकारी अनुसार इस घटना में गोमती (85) पति सुखीराम राठौर, सावित्री (21) पति ताकेश्वर राठौर, सत्यम (11) पिता सुखीराम राठौर, स्वाती (15) पिता बबलू, संस्कार (9) पिता सुखीराम, सुशीला (38) पति धनीराम, सरस्वती (36) पति महेश राठौर, रामबाई (35) पति भीखम, इंद्रवती (80) पति शंकर राठौर और उर्मिला (45) पति पुरुषोत्तम राठौर सभी निवासी ग्राम क्योंटार थाना जैतहरी जख्मी हुए। घटना में घायल स्वाती, सरास्वती और सावित्री का ईलाज जिला अस्पताल में हो रहा है। शेष सभी गंभीर रुप से घायलों को रिफर कर दिया गया।

फोटो- 25 एएनयू 2,4 अनूपपुर। अस्पताल में इलाजरत घायल महिला व किशोरी।

चोरी का आरोपित पकड़ाया

भालूमाड़ा। नईदुनिया न्यूज

चोरी के आरोप में 10 वर्षों से फरार आरोपित को भालूमाड़ा पुलिस ने उसके ससुराल से पकड़ने में सफलता पाई। पुलिस अधीक्षक द्वारा वारंटियों की गिरफ्तारी के लिए दिए गए दिशा निर्देश पर यह कार्यवाही की गई, जिसका कारण लोकसभा चुनाव में अपराधियों पर नकेल कसना है। थाना प्रभारी भालूमाड़ा ने बताया कि आरोपी इंद्रभान उर्फ इंदर (33) पिता उत्तम सिंह गौड़ निवासी अमलाई पर चोरी का आरोप था जिसकी सूचना पर आरोपी को उसके ससुराल कुकुर गुडा थाना जैतहरी से गिरफ्तार किया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि वर्ष 2008 में अपराध धारा 457 380 थाना भालूमाड़ा में दर्ज किया गया था, जिसमें आरोपी पर चोरी करने का आरोप था। उस समय आरोपी की 20 वर्ष थी तब से यह फरार चल रहा था, जिसे पकड़ने के लिए कई बार दबिश दी गई, लेकिन आरोपी नहीं मिला। 24 मार्च को खबर मिली थी कि आरोपी अपनी ससुराल कुकुर गोंडा में है जहां टीम बनाकर दबिश दी गई यहां भी पुलिस के आने पर आरोपी भागने का प्रयास किया, लेकिन उसे पकड़ लिया गया। 25 मार्च को आरोपी को कोतमा न्यायालय में पेश किया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि इंद्रभान पर पहले भी चोरी के आरोप दर्ज हैं। आरोपी पिछले 10 वर्षों से बिलासपुर, रायपुर व अन्य स्थानों पर रहता था साथ ही अपनी पत्नी, बच्चों को घर में न रख कर अपनी ससुराल में ही रखा था और चोरी-छिपे अक्सर वहां आया जाया करता था। आरोपी को पकड़ने में प्रधान आरक्षक अरविंद राय, अमेरिका दास, आरक्षक मनोज नामदेव, दीपक शर्मा का सहयोग रहा।

फोटो- 25 एएनयू 1 आरोपित इंद्रभान सिंह

मारपीट पर मामला दर्ज

कोतमा। कोयलांचल क्षेत्र के बिजुरी थाना अंतर्गत कुरजा रोड बिजुरी निवासी दूबईजी बाई ने 24 मार्च को थाने में शिकायत किया कि गांव के ही मैकू सिंह गोड के द्वारा गाली-गलौज दिया जा रहा था। मना करने पर अश्लील गाली देने के साथ मारपीट की गई एवं जान से मारने की धमकी दी गई। थाना में रिपरेट करने पर आरोपी मैकू सिंह गोड के खिलाफ धारा 294, 323, 506 आईपीसी का प्रकरण दर्ज किया गया।

मटमैला पानी सप्लाई से वार्डवासी नाराज

कोतमा। नईदुनिया न्यूज

नगरपालिका क्षेत्र के कई वार्डो में गंदा पानी की सप्लाई होने से नागरिकों में भारी रोष देखा जा रहा है। बताया जाता है कि वार्ड 8 से 10 में निवासरत घरों में जहां कि 800 से ज्यादा परिवार रहते हैं उनके घरों में पिछले कई दिनों से काला एवं गंदा पानी की सप्लाई हो रही है। दूषित पानी को लेकर कई बार नगरपालिका अध्यक्ष एवं अधिकारियों से गंदे पानी की समस्या से निजात दिलाने की मांग की गई, लेकिन किसी प्रकार से समस्या का समाधान नहीं हो सका। नागरिकों का कहना है कि नगरपालिका द्वारा कालरी से निकलने वाले पानी को बिना फिल्टर एवं कीटनाशक पाउडर नहीं मिलाने के कारण काला एवं गंदा पानी घरो तक पहुंच रहा है, जिसके सेवन लोग गभीर बीमारी के शिकार होते जा रहे हैं। दूषित पानी की सप्लाई होने के कारण लोगो को जबरन बाजार से पीने के लिए महंगे दामो में पानी खरीदने को विवश है। पानी को लेकर कई बार शिकायत की गई, लेकिन सुधार नहीं हो सका। लगातार गंदे पानी को लेकर जनता में रोष देखा जा रहा है।

फोटो- 25 एएनू 5 कोतमा। मटमैला पानी मिलने से नाराज लोग।

खदानों से हो रही कबाड़ की चोरी

कोतमा। नईदुनिया न्यूज

एसईसीएल जमुना-कोतमा क्षेत्र की खदानों से कबाड़ चोरी की घटनाओं में इजाफा हो रहा है। बताया जाता है कि कुछ दिनों से चोरी की घटनाएं थमी रही, लेकिन होली के पूर्व से कबाड़ चोरी एवं सिल्वर तारों की चोरी का सिलसिला बढ़ सा गया है, जिससे प्रबंधन को नुकसान भुगतना पड़ रहा है। कबाड़ चोरों के हौसले इतने बुलंद है कि चालू लाइन से ही तांबे एवं सिल्वर के तारों की चोरी कर रहे है जिससे खदानों का उत्पादन भी प्रभावित होता है। पीछे के गेट से अंदर जाते हैं, चोर इस समय कोयला कबाड़ चोरो के द्वारा गिरोह बनाकर पीछे के गेट से खदान में दाखिल होते है और बेशकीमती कालरी के पार्टस एवं भारी मशीनो के कलपुर्जे को पार कर रहे है। बड़े पैमाने पर हो रही चोरियों में सुरक्षा प्रहरियों की मिलीभगत रहना आम बात हो गई है। बताया जाता है कि होली के 2 दिन पूर्व ही राजनगर 7-8 खदान के पास जीप में कालरी के कबाड़ चोरी करने पर सुरक्षा टीम के द्वारा पकड़ा गया था, जिसके बाद खदानो से हो रही कबाड़ चोरी की खबरों पर भी सधााई की मुहर लगती जा रही है। कालरी श्रमिकों के अनुसार कबाड़ चोरी में कालरी प्रबंधन की उदासीनता के कारण ही चोरो के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket