अनूपपुर। नई दुनिया प्रतिनिधि समेकित बाल संरक्षण वात्सल्य योजनांतर्गत जिला बाल संरक्षण इकाई की त्रैमासिक बैठक कलेक्ट्रेट स्थित नर्मदा सभागार में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर सोनिया मीना सहित सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक के के सोनी, उप पुलिस अधीक्षक मान सिंह टेकाम,अजाक डीएसपी राहुल सैयाम, होमगार्ड के जिला कमांडेंट जेपीउईके, पीआरओ अमित श्रीवास्तव, किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य शेफाली सिंह, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष कुमार ध्रुव, सदस्य ललित दुबे, मोहनलाल पटेल, विद्यानंद शुक्ला, सीमा यादव, पुलिस अधिकारी, ममता बालगृह, चाईल्ड लाईन के पदाधिकारी, महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी विनोद परस्ते, सहायक संचालक श्रीमती मंजूषा शर्मा आदि उपस्थित थे।

बैठक में किशोर न्याय अधिनियम 2015 एवं आदर्श नियम 2016 के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु समेकित बाल संरक्षण योजना का जिला स्तर पर निगरानी, मूल्यांकन एवं समीक्षा की गई। बैठक में समेकित बाल संरक्षण योजना के संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि सभी बच्चों विशेष रूप से कठिन परिस्थितियों में रहने वाले बच्चों के समग्र कल्याण एवं पुर्नवास हेतु बाल संरक्षण की अन्य योजनाओं को केन्द्रीय रूप में सम्मिलित कर प्रारंभ की गई है। योजना बच्चों के बाल अधिकार, संरक्षण और सर्वोत्तम बाल हित के दिशानिर्देशक सिद्धांतों पर आधारित है, जिसके तहत किशोर न्याय बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम 2015 का क्रियान्वयन भी मुख्य घटक है। इस अधिनियम के तहत 18 वर्ष से कम आयु के विधि विरोधी कार्यों में संलिप्त बालकों तथा देखरेख और संरक्षण के लिए जरूरतमंद बालकों को संरक्षण, भरण-पोषण, शिक्षण-प्रशिक्षण तथा व्यावसायिक एवं पारिवारिक पुर्नवास मुख्य उद्देश्य है। बैठक में बाल कल्याण समिति के कार्य, जिला किशोर न्याय बोर्ड के कार्य के साथ ही बाल कल्याण समिति में वर्ष 2021-22 में दर्ज प्रकरणों की समीक्षा की गई।

बैठक में कलेक्टर सोनिया मीना ने कहा कि अंतर्विभागीय समन्वय तथा समर्पित सेवा भावना के साथ निःसहाय लोग जिनके साथ अपराध घटित होता है, उन्हें शासन की जनकल्याणकारी योजना से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने सभी लोगों से एलर्ट रहकर व स्वयं आगे आकर कार्य कर गरीब निःसहाय लोगों की मदद करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि गरीब निःसहाय लोगों के प्रति समर्पण भाव से कार्य किया जाए, जिससे शासकीय सेवा के उद्देश्य की पूर्ति हो सके।

देवी देवताओं के ऊपर अपशब्द लिखे जाने के विरोध में कोतमा नगर के युवाओं ने विरोध रैली निकालकर किया प्रदर्शन

कोतमा। नई दुनिया न्यूज। धनपुरी नगर में हिंदू देवी देवताओं को अपशब्द लिखकर इंटरनेट मीडिया में प्रसारित किए जाने के मामले में कोतमा में नागरिकों ने घटना पर आक्रोश जाहिर करते हुए प्रदर्शन किया और राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। पत्र में कहा गया इस घटना से तमाम क्षेत्र के सनातनी बंधु आहत है व इस बात का क्षोभ है कि आए दिन इस तरह की घटनाएं हो रही हैं और समाज में द्वेष फैलाने का काम किया जा रहा है जिसके कारण आराजकता का माहौल बनता है। हालांकि आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया एवं उस पर कानूनी कार्रवाई भी की गई है लेकिन कोतमा नगर के युवाओं ने आक्रोश दिखाते हुए नगर के गांधी चौक से विरोध रैली निकालकर वैदुल कादिर को फांसी दो सजा की मांग करते हुए नगर में विरोध प्रदर्शन किया एवं थाने में जाकर राज्यपाल के नाम पर ज्ञापन सौंपा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close