अनूपपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के 4 नगरीय निकाय में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए निर्वाचन शुक्रवार को हुए। 3 नगर निकाय में भाजपा समर्थित प्रत्याशी अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुए जबकि एक नगर निकाय निर्दलीय प्रत्याशी के खाते में गया। जिले के पसान, डोला और अनूपपुर निकाय में भाजपा ने अध्यक्ष पद पर कब्जा किया है नगर पंचायत बनगवां में सबसे अधिक है निर्दलीय प्रत्याशी चुनावों में जीत कर आए थे और अध्यक्ष पद भी निर्दलीय के झोली में गया। चार नगर निकाय में उपाध्यक्ष के पद में 3 स्थानों पर भाजपा और 1 में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है।

नगरपालिका अनूपपुर में भाजपा की अंजुलिका संभालेंगी नगर सत्ताः अनुपपुर नगर पालिका में अध्यक्ष महिला अंजुलिका शैलेंद्र सिंह के हाथों में नगर सत्ता की बागडोर आई है जो भारतीय जनता पार्टी से हैं। अंजुलिका अनूपपुर नगर के वार्ड क्रमांक 1 से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पार्षद पद में निर्वाचित हुई थी। भारतीय जनता पार्टी से जुड़ने के बाद जब अध्यक्ष पद का चुनाव हुआ तो अंजुलिका को भाजपा ने अध्यक्ष पद के लिए आगे किया। अनूपपुर में 15 वार्ड हैं, यहां भाजपा के 7 प्रत्याशी जीत कर आए थे वहीं कांग्रेस के तीन तथा पांच निर्दलीय पार्षद थे। अध्यक्ष पद के निर्वाचन दौरान कांग्रेस की तरफ से वार्ड क्रमांक 7 प्रवीण आशीष त्रिपाठी थे। जब चुनाव हुआ तो परिणाम चौंकाने वाले आए भाजपा बहुमत के बावजूद मात्र एक मत से अध्यक्ष पद जीतने में कामयाब हुई। भाजपा प्रत्याशी को 8 और कांग्रेस प्रत्याशी को 7 मत प्राप्त हुए। कुछ पार्षदों के द्वारा क्रास वोटिंग किए जाने की भी चर्चा है। बहरहाल भाजपा नगर की सत्ता पाने में कामयाब रही लेकिन कांग्रेस से अध्यक्ष पद के लिए सारे समीकरण अपने पक्ष में करने में मात्र एक कदम दूर रह गई। अध्यक्ष पद पर निर्वाचन उपरांत नगर में भाजपा कार्यकर्ताओं समर्थकों ने अध्यक्ष अंजुलिका शैलेंद्र सिंह की जीत पर निकले विजय जुलूस में शामिल होकर जीत का जश्न मनाया। नगरपालिका अनूपपुर में उपाध्यक्ष पद भी भाजपा की झोली में गया। उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा से सोनाली पिंटू तिवारी और कांग्रेस से दीपक शुक्ला आमने-सामने थे। सोनाली तिवारी ने 15 में से 10 मत प्राप्त कर जीत दर्ज की। भाजपा के रामअवध सिंह दूसरी बार संभालेंगे पसान नगर की कमान- पसान नगर पालिका में अध्यक्ष पद पर राम अवध सिंह निर्वाचित हुए हैं। वे दूसरी बार इस नगर पालिका से अध्यक्ष होंगे। अध्यक्ष पद हेतु राम अवध सिंह के खिलाफ भाजपा के पदाधिकारी लाल बहादुर जयसवाल की पत्नी अलका जायसवाल ने चुनाव लड़ा लेकिन बाजी राम अवध सिंह ने कुल 18 मत में से सर्वाधिक 10 मत लाकर हासिल की। अलका जयसवाल को महज 3 मत ही मिले। यहां 5 पार्षदों ने निर्वाचन में हिस्सा नहीं लिया था। जो पार्षद अध्यक्ष पद चुनने के दौरान नहीं पहुंचे थे। जब अध्यक्ष की घोषणा हुई इसके बाद सभी पांचों पहुंचे इसके बाद उपाध्यक्ष पद का निर्वाचन होना था लेकिन सभी पार्षदों की सहमति से उपाध्यक्ष निर्विरोध चुन लिया गया। अध्यक्ष के चुनाव के लिए पांचो पार्षदों के गायब रहने को लेकर तरह-तरह के कयास और चर्चाएं व्याप्त हैं। यह पार्षद कहां थे और क्यों इस निर्वाचन में हिस्सा नहीं लिया इसका जवाब दिए बगैर सभी पांचों उपाध्यक्ष पद की घोषणा होते ही वापस चले गए। इन पार्षदों में दो कांग्रेस और तीन निर्दलीय प्रत्याशी हैं। अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचन में भाग न लेने वालों में वार्ड क्रमांक 3 से सविता रूपेश सिंह, वार्ड क्रमांक 10 से कांग्रेसी पार्षद चैन रैदास, वार्ड क्रमांक 1 से कांग्रेस पार्षद पूजा सिंह, वार्ड क्रमांक 18 से निर्दलीय प्रत्याशी इंद्र लाल केवट और वार्ड क्रमांक 2 से गीता अजय यादव शामिल हैं जिन्होंने अध्यक्ष पद के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं किया। बताया गया तीनों निर्दलीय प्रत्याशी भाजपा से बागी होकर चुनाव लड़ा था। कहा जाता है इनके क्रास वोटिंग करने की आशंका जताई गई थी। इस मामले में माना जा रहा है कि भाजपा अपनी रणनीति पर कामयाब हुई। बताया यह भी गया की राम अवध सिंह और लाल बहादुर जयसवाल भाजपा के अलग-अलग गुटों से ताल्लुकात रखते हैं। बहर हाल राम अवध सिंह और उनके समर्थकों के लिए अध्यक्ष पद की जीत बड़ी मायने रखती है और नगर में इसलिए विजय जुलूस भी खास तौर पर निकला। हालांकि पसान नगर पालिका में उपाध्यक्ष पद पर अजय ताराचंद्र यादव निर्विरोध निर्वाचित हुए जोकि पहले निर्दलीय प्रत्याशी थे जो बाद में भाजपा में शामिल हो गए।

बनगवां में बनी निर्दलियों की सरकारः नवगठित नगर पंचायत बनगवां में कुल 15 वार्ड हैं यहां 9 पार्षद निर्दलीय जीत कर आए थे। अध्यक्ष भी इन्हीं निर्दलीय में से बने हैं। अध्यक्ष पद पर वार्ड क्रमांक 14 के प्रत्याशी यशवंत सिंह निर्वाचित हुए हैं इनके प्रतिद्वंदी भाजपा के प्रमोद शुक्ला थे यशवंत सिंह को 9 मत प्राप्त हुए और इस तरह से बनगवां में निर्दलीय प्रत्याशी अध्यक्ष पद पर विराजमान हुए। हालांकि यसवंत सिंह को कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ ले गई छायाचित्र इशारा करती है कि यशवंत कांग्रेस के हैं किंतु उन्होंने इसकी आधिकारिक पुष्टि अभी नहीं की है। बनगवां में उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस प्रत्याशी धनंजय उर्फ मुन्नाा सिंह निर्वाचित हुए हैं जिन्होंने अपने निकटतम भाजपा प्रत्याशी संगीता सोनी को हराया। धनंजय सिंह 9 मत प्राप्त कर उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए। नगर परिषद बनगवां में भाजपा के 5 पार्षद निर्वाचित होकर आए थे, लेकिन भाजपा को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर करारी हार का सामना करना पड़ा। नगर परिषद बनगवां में तहसीलदार अनूपपुर ईश्वर प्रधान पीठासीन अधिकारी रहे जो कि नायब तहसीलदार पुष्पराजगढ़ भावना डहेरिया सहायक पीठासीन अधिकारी के साथ यहां निर्वाचन की प्रक्रिया पूरी कराई।

रीनू चलाएंगी डोला नगर : नगर पंचायत डोला में भाजपा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर जीत दर्ज की है। यहां कुल 15 वार्ड हैं चुनाव के दौरान भाजपा के 6 कांग्रेस के 4 तथा पांच निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की थी। शुक्रवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए हुए निर्वाचन में भाजपा निर्दलियों को साधने में सफल रही और नगर सत्ता में भाजपा की अध्यक्ष उम्मीदवार को जिताने में कामयाब हुई। अध्यक्ष पद के लिए कुल 15 मतों में से 13 मत डाले गए जिसमें अध्यक्ष पद की उम्मीदवार भाजपा की रीनू कोल को 9 मत प्राप्त हुए जबकि कांग्रेस प्रत्याशी संतोष सिंह को 4 मत प्राप्त हुए। दो पार्षद इस निर्वाचन से नदारद रहे। इसी तरह यहां उपाध्यक्ष पद पर भाजपा प्रत्याशी रवि शंकर छोट्टन तिवारी को 13 में से 9 मत प्राप्त हुए उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के पवन सिंह को पराजित किया जिन्हें केवल 4 मत प्राप्त हुए।नगर परिषद टोला में तहसीलदार कोतमा भागीरथी लहरें पीठासीन अधिकारी और सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख कन्हैया दास पनिका ने निर्वाचन प्रक्रिया संपन्ना कराई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close