अनूपपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अनूपपुर जिले की विभागीय समीक्षा बैठक ली इस दौरान जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री को इस बात के लिए माफी मांगने के लिए कहा कि उन्होंने पूरे गांव को सामान चोरी कर ले जाने की बात कह दी थी। मुख्यमंत्री का कहना था एक दो लोगों की यह हरकत हो सकती है, इसलिए ऐसा कहना उचित नहीं है कि गांव वाले सामान चुरा ले जाते हैं। अपने इन शब्दों के लिए अनूपपुर कार्यपालन यंत्री जितेंद्र मिश्रा ने माफी मांगी।

मामला यह था कि अनूपपुर जनपद ब्लाक के ग्राम धूम्मा में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा ट्रांसफार्मर से वायर चोरी दो बार कर ली गई, जिससे पानी सप्लाई में बाधा आ रही थी यह शिकायत विभाग को कई बार ग्रामीणों द्वारा की गई थी। इसी मामले पर मुख्यमंत्री ने जानकारी ली थी। समीक्षा बैठक के दौरान अनूपपुर कलेक्टर सोनिया मीना ने दूसरी शिकायत की जानकारी मुख्यमंत्री को देते हुए बताया कि ग्राम पयारी नंबर दो और खमरौध में ठेकेदार द्वारा पाइप लाइन विस्तार में लापरवाही की, जिसके कारण दोनों ठेकेदार को नोटिस देते हुए पेमेंट रोक दी गई है।

मुख्यमंत्री द्वारा ली गई समीक्षा बैठक संतोषप्रद रही। मुख्यमंत्री ने समीक्षा शुरू करने से पूर्व सभी को नवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं दी कहा कि देवी मां मध्य प्रदेश पर और हमारे देश पर, अनूपपुर जिले पर और आप सब पर कृपा की वर्षा करें। हम बेहतर काम करते हुए अपने प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाएं और जनता को भी योजनाओं के क्रियान्वयन के माध्यम से हम बेहतर और सुखी जीवन उपलब्ध कराने में सहयोगी बन सके।

प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभारी मंत्री, विधायक भी प्रधानमंत्री आवास योजना की मॉनिटरिंग करें। यदि किसी हितग्राही से अनुचित रूप से रुपयों की मांग की जाती है तो सख्त कार्रवाई की जाए।किसी तकनीकी कारण से हितग्राहियों के प्रकरण मंजूरी होने में समस्या आ रही है उसे गंभीरता से देखा जाए ताकि कोई गरीब आवास सुविधा से वंचित न रह जाए जो पुराने आवास बनने से रह गए हैं उन्हें पूरे कराए जाएं।स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रशंसा जाहिर की और कहा कि शिशु मृत्यु मामले में अनूपपुर पहले नीचे था अब 11वें नंबर पर आ गया है इसी तरह टीवी प्रबंधन पर बेहतर काम हुआ, जिससे अनूपपुर राज्य का नंबर एक जिला बन गया है। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए बधाई का पात्र है और अच्छा कार्य स्वास्थ्य क्षेत्र में किए जाएं। लोक निर्माण विभाग को जैतहरी क्षेत्र से राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए बाईपास रोड हेतु जल्द प्रस्ताव बनाने के लिए निर्देशित किया। अमरकंटक में चलाए गए अतिक्रमण विरोधी अभियान की मुख्यमंत्री द्वारा प्रशंसा की गई और यहां के बराती क्षेत्र में जो हितग्राहियों को आवास के लिए स्थान आवंटित किए गए हैं वहां जल्द आवास बनवाए जाने के लिए निर्देशित किया गया। इसी तरह जिला कलेक्टर को जिले के शहरी क्षेत्र में जहां आवास योजना का कार्य जमीन को लेकर लंबित है को समझाने के लिए निर्देशित किया। जन सेवा अभियान की समीक्षा के दौरान कलेक्टर द्वारा मुख्यमंत्री को बताया गया कि 11 हजार से अधिक आवेदन पहुंचे हैं जिसमें से 9600 मामलों का निराकरण 221 शिविर लगाकर कर दिए गए हैं। एक जिला एक उत्पाद की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री के सवाल हमें डेढ़ साल में क्या काम किया इसका आउटपुट कलेक्टर द्वारा बताया गया कि कोदो और टमाटर उत्पाद का चयन या गया है।कोदो का वर्तमान में 33 क्विंटल का उत्पादन किया जा रहा है पौधों के लिए प्रसंस्करण इकाई लगाई जा चुकी है टमाटर के लिए दो इकाई लगाने की प्रक्रिया चल रही है। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने जिले में कितने घंटे बिजली की आपूर्ति हो रही है जानकारी मांगी शिकायतों के संबंध में 165 की जानकारी दी गई जिसमें पुष्पराजगढ़ क्षेत्र में सबसे ज्यादा शिकायतें थी जिस पर मुख्यमंत्री ने इन सभी शिकायतों का निराकरण जल्द किए जाने विभाग के अधिकारियों को कहा। पोषण आहार मामले की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहां की गुणवत्ता युक्त पोषण आहार आंगनवाड़ी केंद्रों में समय पर पहुंचे इसकी निगरानी की जाए। अधिक से अधिक लोगों एवं जनप्रतिनिधियों को आंगनवाड़ी गोद दिलाए जाने ध्यान दिया जाए। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को कहा कि जिस नगर पालिका क्षेत्र में सीएमओ नहीं है वहां पद रिक्त ना रहे। जहां सीएमओ नहीं है वह तुरंत नियुक्ति की जाए इसके लिए प्रभार भी दूसरों को दिया जा सकता है।अनूपपुर शहर में बन रहे फ्लाईओवर ब्रिज की भी जानकारी मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान ली और जिला कलेक्टर से कहा कि समय सीमा में कार्य को पूरा कराए जाने लगातार मॉनिटरिंग की जाएं। अनूपपुर जिले में कानून व्यवस्था पर प्रशंसा जताई। समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर सोनिया मीना, अपर कलेक्टर सरोधन सिंह, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी सोजान सिंह रावत पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close