अनूपपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले की अमरकंटक ताप विद्युत केंद्र चचाई की यूनिट से बिजली का उत्पादन गुरुवार को ठप पड़ गया। कारण था कि यूनिट को फुल लोड पर चलाने की कोशिश हो रही थी कि बायलर की ट्यूब फट गई और यूनिट को बंद करना पड़ा। यूनिट बंद होने की वजह अधिकारियों की लापरवाही मानी जा रही है।

तेज धमाके के साथ फटा बायलर : चचाई में स्थित अमरकंटक ताप विद्युत केंद्र में 210 मेगावाट की यूनिट संचालित है। जानकारी अनुसार यह यूनिट पिछले एक माह से 120 मेगा वाट क्षमता पर चलाई जा रही थी। गुरुवार सुबह करीब 12 बजे जब यूनिट को 200 मेगावाट पर लाया जा रहा था तभी एक तेज धमाके के साथ बायलर की ट्यूब लीकेज कर गई और यूनिट को बंद करना पड़ा। बताया जाता है ट्यूब लीकेज होने की वजह यूनिट को फुल लोड पर चलाना था अधिकारी इस भरोसे बैठे की यूनिट को पूरी क्षमता के साथ चला ले जाएंगे लिहाजा धीरे-धीरे यूनिट की मेगावाट क्षमता बढ़ाया जाता रहा और 200 मेगा वाट की क्षमता के आते आते यह यूनिट जवाब दे गई। बायलर की ट्यूब लीकेज हो गई जिससे पावर जनरेटिंग कंपनी को करोड़ों का नुकसान पहुंचा। प्लांट के अधिकारी इस यूनिट के सुधार में लग गए हैं लेकिन यूनिट को पुनः विद्युत परिचालन में लाने में समय के साथ जो फर्नेस ऑयल का उपयोग किया जाएगा उसमें करोड़ों रुपये खर्च होंगे। बताया जा रहा है कि अभी तक 210 मेगावाट क्षमता की सीनेट को 120 मेगा वाट के समकक्ष चलाया जा रहा था। कम क्षमता में चलाने की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है लेकिन फुल लोड पर लेने का कारण यह भी बताया जा रहा है कि बिरसिंहपुर पाली की यूनिट एक-एक करके बंद हो गई है जिससे प्रदेश में बिजली की कमी आ गई है ऐसे में चचाई बिजलीघर को पूरी क्षमता में चलाने का निर्णय लिया गया और लोड पर लेने के दौरान ही यूनिट की वायलर ट्यूब लीकेज हो गई।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local